मुंबई: रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को भरोसा जताया कि दूसरी तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर के आंकड़े बेहतर होंगे. उन्होंने कहा कि सरकार ने फिर से खजाना खोल दिया है, इससे आने वाले समय में वृद्धि तेज होगी. रिजर्व बैंक के गवर्नर ने कहा कि सरकार ने फिर से खर्च करना शुरू कर दिया है. इससे पहली तिमाही की तुलना में दूसरी तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर के आंकड़े बेहतर होंगे. हालांकि, उन्होंने सरकार को राजकोषीय विस्तार शुरू करने को लेकर सजग किया. उन्होंने तत्काल संरचनात्मक सुधारों की भी अपील की.

सरकार ने कॉरपोरेट को दी Rs.1.45 लाख करोड़ की राहत, सेंसेक्‍स 1900 अंक से ज्‍यादा उछला

दास ने पहली तिमाही में जीडीपी वृद्धि की दर कम होकर छह साल के निचले स्तर पांच प्रतिशत पर आ जाने के लिये सरकार के बेहद कम खर्च को जिम्मेदार बताया. उन्होंने कहा कि सरकार ने फिर से खजाना खोल दिया है, इससे आने वाले समय में वृद्धि तेज होगी.दास ने कॉरपोरेट कर की दरें कम करने की सरकार की घोषणा का स्वागत किया. उन्होंने कहा कि यह एक बड़ा कदम है और इससे सभी क्षेत्रों को लाभ होगा.

सरकार ने शुक्रवार को बड़ी राहत देते हुए कॉरपोरेट कर की प्रभावी दरें करीब 10 प्रतिशत घटाकर 25.17 प्रतिशत कर दी. दास ने आंकड़ों के सकारात्मक रहने की स्थिति में रेपो दर में अभी और कटौती की संभावना पर भी जोर दिया. हालांकि, उन्होंने सरकार को राजकोषीय विस्तार शुरू करने को लेकर सजग किया. दास ने तत्काल संरचनात्मक सुधारों की भी अपील की.