नई दिल्ली| लंबे इंतजार के बाद 1 जुलाई से देश में सबसे बड़ा कर सुधार यानी जीएसटी लागू हो जाएगा. जीएसटी लागू करने के लिए शुक्रवार की मध्यरात्रि को संंसद में एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. इस कार्यक्रम में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, सांसद समेत अमिताभ बच्चन, रतन टाटा जैसी देश की कई जानी-मानी हस्तियां मौजूद होंगी.Also Read - GST कलेक्‍शन 33 फीसदी बढ़ा, सरकार के खजाने में आए 1.16 लाख करोड़ रुपए

सरकार ने हेल्थकेयर और एजुकेशन समेत कई चीजों को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा है. लोकल और पब्लिक ट्रांसपोर्ट को भी जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है. जीएसटी की वजह से मेट्रो और बस में सफर सस्ता होगा. मगर यदि आप लग्जरी यात्री है तो आपको ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ेंगे. धार्मिक स्‍थालों की यात्राओं को भी जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है. हज यात्रा भी इसमें शामिल है. Also Read - ज्वैलर्स को मिली बड़ी राहत, सोने के आभूषणों के पुनर्विक्रय से अर्जित लाभ पर देना होगा जीएसटी

जीएसटी लागू होने के बाद ऐप पर आधारित टैक्सी सेवा देने वाली कंपनियों से टैक्सी की बुकिंग करना सस्ता हो जाएगा. जीएसटी लागू होने के बाद ओला और उबर से सफर करने में कम पैसे खर्च होंगे. जीएसटी के तहत ऐप पर आधारित टैक्सी सेवा देने वाली कंपनियों से 5 फीसदी टैक्स वसूला जाएगा. अभी यह टैक्स 5.8 फीसदी है. यानि आपका किराया कम हो जाएगा. Also Read - Mumbai Rain Alert : महाराष्‍ट्र की राजधानी मुंबई में भारी बारिश की चेतावनी, Local Train सेवाएं रहीं प्रभावित

जीएसटी के बाद पब्लिक ट्रांसपोर्ट से सफर करने वाले यात्रियों को बहुत फायदा होगा साथ ही ओला, उबर से सफर करने वाले यात्रियों को भी कम पैसे खर्च करने पड़ेंगे.