नई दिल्ली: वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह अप्रैल में 10.05 फीसदी बढ़कर 1,13,865 करोड़ रुपए हो गया. नई अप्रत्यक्ष कर प्रणाली के एक जुलाई, 2017 को लागू होने के बाद यह सबसे ज्यादा दर्ज किया गया मासिक राजस्व है. बता दें कि अप्रैल 2018 में राजस्व 1.03,459 करोड़ रुपए था और बीते साल के इसी महीने की तुलना में अप्रैल 2019 के राजस्व में 10.05 फीसदी की वृद्धि देखी गई.

वित्त मंत्रालय के बुधवार को एक बयान में कहा, “कुल सकल जीएसटी राजस्व अप्रैल 2019 में 1,13,865 करोड़ रुपए है, जिसमें से सीजीएसटी (केंद्रीय जीएसटी) 21,163 करोड़ रुपए, एसजीएसटी (राज्य जीएसटी) 28,801 करोड़ रुपए है, आईजीएसटी (एकीकृत जीएसटी) 54,733 करोड़ रुपए है. इसमें 23,289 करोड़ रुपए आयात व सेस के शामिल हैं.”

बयान के मुताबि‍क, मार्च महीने से 30 अप्रैल, 2019 तक दाखिल किए गए जीएसटीआर-3 बी के कुल रिटर्न की संख्या 72.13 लाख है. जीएसटीआर-3बी फॉर्म बाहरी आपूर्ति, इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) दावा व शुद्ध कर भुगतान का संक्षिप्त विवरण है.