नई दिल्ली: एचडीएफसी बैंक ने देश में अपनी तरह की पहली स्कीम लॉन्च की है जिसमें म्यूचुअल फंड के बदले डिजिटल लोन लिया जा सकता है. एचडीएफसी ने ये स्कीम सीएएमएस के साथ पार्टनरशिप में शुरू की है. इस स्कीम के साथ लोग अब ऑनलाइन अपने म्यूचुअल फंड के बदले तीन मिनट के अंदर लोन ले सकते हैं. बैंक के मुताबिक, यह योजना उन ग्राहकों के लिए लाभदायक होगी जो अपने म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो का इस्तेमाल किसी भी आपात स्थिति में अपने निवेश को समाप्त किए बिना या अपनी नियमित निवेश योजनाओं या एसआईपी को रोक दिए बिना धन का लाभ उठा सकेंगे.

HDFC नेट बैंकिंग से 3 आसान से स्टेप अपनाकर इस स्कीम का लाभ उठाया जा सकता है:

1. HDFC बैंक की वेबसाइट के माध्यम से myCAMS में लॉग इन करना होगा और उस म्यूचुअल फंड (MF) का चयन करना होगा जिसे आप गिरवी रखना चाहते हैं.
2. फिर आपको लोन के नियमों और शर्तों पर क्लिक करना होगा.
3. इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आएगा. आपको वो ओटीपी डालना होगा जिसके बाद ओवरड्राफ्ट रकम सम्बंधित खाते में पहुंच जाएगी.

अपनी तरह की इस पहली सुविधा के बारे में बताते हुए HDFC बैंक ने कहा कि उसने ग्राहकों को बेहतर अनुभव देने के लिए सीएएमएस के साथ साझेदारी की है. इस उत्पाद का लाभ उन सभी एचडीएफसी बैंक ग्राहकों द्वारा लिया जा सकता है, जो सीएएमएस के साथ पंजीकृत 10 म्यूच्युअल फंड में से कम से कम एक में अपनी संपत्ति रखते हैं.

म्यूच्यूअल फंड आधारित ऋण की मुख्य बातें:

-मिनटों के भीतर आपके खाते में पैसे आ जाएंगे.
-डेबट और इक्विटी म्यूच्युअल फंड को गिरवी रखकर लोन ले पाएंगे.
-बिना क्रेडिट हिस्ट्री वाले ग्राहक भी लोन ले सकेंगे.
-देश भर में HDFC बैंक के वेबसाइट से लोन के लिए आवेदन कर पाएंगे.

HDFC बैंक लोन डिपार्टमेंट के ग्रुप हेड अरविंद कपिल ने बताया कि, ”म्यूचुअल फंड के बदले डिजिटल लोन बैंक इंडस्ट्री में अपनी तरह का पहला प्रयोग है और इससे ग्राहकों को अधिक सुविधा होगी क्योंकि इमरजेंसी के समय अब ग्राहकों को इधर उधर नहीं भटकना पड़ेगा बल्कि वो आसानी से इस स्कीम का लाभ उठा पाएंगे.”