नई दिल्ली: देश के कोरोना काल में अनलॉक खुलने के केंद्र सरकार के GST का रेवन्‍यू साल 2020 के अंतिम महीने दिसंबर में 1,15,174 करोड़ रुपए रहा है. यह अब तक का सबसे अधिक कलेक्‍शन है. इससे पहले अप्रैल 2019 में सबसे ज्यादा 1 लाख 13 हजार 866 करोड़ रुपए का जीएसटी कलेक्शन रहा था.Also Read - सीजीएसटी अधिकारियों ने 7 फर्मो से जुड़े 34 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का खुलासा किया

केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने शु्क्रवार को बताया कि दिसंबर में जीएसटी GST संग्रह 1.15 लाख करोड़ रुपए के सर्वकालिक उच्च स्तर को छुआ, जो त्योहारी मांग और अर्थव्यवस्था में सुधार को दर्शाता है. Also Read - PAK PM Imran Khan के एडवाइजर ने अब पब्लिक को दी धमकी-टैक्स नहीं दोगे, तो वोट भी नहीं देने देंगे

Also Read - Bharti Airtel: सुप्रीम कोर्ट ने जीएसटी रिटर्न में 923 करोड़ रुपये रिफंड की भारती एयरटेल की अर्जी खारिज की

वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि दिसंबर 2020 में सकल जीएसटी राजस्व 1,15,174 करोड़ रुपए रहा, और वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने के बाद किसी भी महीने के मुकाबले यह सबसे अधिक है.

इन कारणों से बढ़ा जीएसटी कलेक्‍शन
वित्‍त मंत्रालय ने बयान में कहा है, ”यह पिछले 21 महीनों में सबसे अधिक मासिक राजस्व वृद्धि है. यह महामारी के बाद तेज आर्थिक सुधार और जीएसटी चोरी और फर्जी बिल के खिलाफ चलाए गए देशव्यापी अभियान, और व्यवस्थागत बदलावों के चलते संभव हुआ.”

आयातित वस्तुओं से राजस्व 27 प्रतिशत बढ़ा
नवंबर से 31 दिसंबर तक कुल 87 लाख जीएसटीआर-3बी रिटर्न दाखिल किए गए. समीक्षाधीन महीने में आयातित वस्तुओं से राजस्व 27 प्रतिशत बढ़ा और घरेलू लेनदेन (आयात सेवाओं सहित) से राजस्व इससे पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 8 प्रतिशत अधिक रहा.

लगातार तीसरे महीने एक लाख करोड़ रुपए के आंकड़े को पार किया
जीएसटी राजस्व में सुधार के हालिया रुझानों के अनुरूप राजस्व संग्रह ने लगातार तीसरे महीने एक लाख करोड़ रुपए के आंकड़े को पार किया. दिसंबर 2020 में कुल राजस्व संग्रह दिसंबर 2019 के मुकाबले 12 प्रतिशत अधिक था.

जीएसटी की राशि ऐसे बढ़ी
दिसंबर में केंद्रीय जीएसटी संग्रह 21,365 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी संग्रह 27,804 करोड़ रुपए, एकीकृत जीएसटी 57,426 करोड़ रुपये (वस्तुओं के आयात पर एकत्र 27,050 करोड़ रुपये सहित) और उपकर 8,550 करोड़ रुपये (आयात पर एकत्र 971 करोड़ रुपये सहित) रहा.

31 दिसंबर तक 4.84 करोड़ से अधिक आईटीआर दाखिल
आयकर विभाग ने शुक्रवार को कहा कि वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 31 दिसंबर 2020 तक 4.84 करोड़ से अधिक आयकर रिटर्न दाखिल किए जा चुके थे.