नई दिल्ली: पेट्रोल और डीजल की महंगाई से जल्द कोई राहत मिलने की गुंजाइश नहीं दिखती है. लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान संपन्न होने के बाद से देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 64 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया है और डीजल के दाम में 68 पैसे प्रति लीटर का इजाफा हो चुका है. Also Read - Fuel demand: Pre COVID के स्तर पर पहुंची ईंधन की मांग, पटरी पर लौटने लगी अर्थव्यवस्था

पेट्रोल और डीजल के दाम में रविवार को लगातार चौथे दिन वृद्धि का सिलसिला जारी रहा और जानकारों के अनुसार अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में पिछले दिनों रही तेजी के चलते देश की तेल विपणन कंपनियां पेट्रोल और डीजल के दाम में आगे तीन रुपए प्रति लीटर तक की वृद्धि कर सकती हैं. Also Read - Petrol Diesel Price: अगर ये काम करे सरकार तो 75, 68 रुपये लीटर मिल सकता है पेट्रोल, डीजल; जानिए इकोनोमिस्ट का फार्मूला

तेल विपणन कंपनियों ने रविवार को दिल्ली, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम 14 पैसे जबकि कोलकाता में 13 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दिए. डीजल के दाम में दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में सात पैसे जबकि चेन्नई में आठ पैसे प्रति लीटर का इजाफा हुआ है. Also Read - Petrol-Diesel Price Hike: सरकार को क्यों घटानी चाहिए पेट्रोल-डीज़ल की कीमतें? | Watch Video

रविवार को इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार:-
पेट्रोल:   दाम प्रति लीटर
दिल्ली:     71.67 रुपए
कोलकता: 73.73 रुपए
मुंबई:      77.28 रुपए
चेन्नई:    74.39 रुपए

चार महानगरों में डीजल के दाम प्रति लीटर
दिल्‍ली:    66.64 रुपए
कोलकाता: 68.40 रुपए
मुंबई:  69.83 रुपए
चेन्‍नई:  70.45 रुपए

अंतरराष्ट्रीय बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज पर पिछले सप्ताह शुक्रवार को ब्रेंट क्रूड का अगस्त डिलीवरी अनुबंध 1.37 फीसदी की तेजी के साथ 68.69 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ, जबकि विगत 15 दिनों के दौरान ब्रेंट क्रूड का भाव 70 डॉलर से ऊपर ही बना रहा.

एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट (इनर्जी व करेंसी रिसर्च) अनुज गुप्ता ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव में तेजी के बावजूद लोकसभा चुनाव के दौरान तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल के दाम पर नियंत्रण बनाए रखा, जिसके बाद उनको अपने घाटे को पाटने के लिए कीमतें बढ़ाने के अलावा दूसरा कोई उपाय नहीं होगा.

गुप्ता ने इससे पहले कहा था कि चुनाव समाप्त होने पर पेट्रोल और डीजल के दाम में 3-4 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी हो सकती है. उन्होंने कहा कि अभी एक रुपया लीटर भी दाम नहीं बढ़ा है, लिहाजा यह वृद्धि का सिलसिला आगे जारी रहेगा.