How to choose Credit Card: देश में फैली महामारी के बीच लोगों का ऑनलाइन पैमेंट या यूं कहें डिजिटल पेमेंट करने पर भरोसा बढ़ रहा है. ऐसे में शॉपिंग कॉम्पलेक्स, सिनेमा हॉल इन सबके खुलने के बाद क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करना लोग पसंद करेंगे. लेकिन इससे पहले आपको क्रेडिट कार्ड से जुड़ी कुछ बातों को जानना बेहद जरूरी है. क्योंकि अगर आपको ये बातें पता नहीं होंगी तो क्रेडिट कार्ड का चयन करने समय आप खुद का नुकसान करवा बैठेंगे. आज हम आपको बताएंगे कि किस तरह का क्रेडिट कार्ड लोगों को लिए पहली विकल्प बन सकता है. Also Read - Credit Card के हैं कई फायदे, तो कई होते हैं नुकसान, कुछ इस तरह चुने अपना क्रेडिट कार्ड

बता दें कि लगभग सभी क्रेडिट कार्ड कंपनियां अपने उपभोक्ताओं से सालान फीस वसूलती हैं. लेकिन कई बार आप क्रेडिट कार्ड को किसी विशेष ऑफर के तहत प्राप्त करते हैं या आवेदन करते हैं तो उनपर आपसे फीस नहीं वसूले जाते हैं. कुछ खाताधारकों को बैंकों द्वारा लाइफ टाइम तक फ्री सर्विस के तहत सुविधा दी जाती है. Also Read - Yes Bank Crisis: सेवाएं हुईं बहाल, ग्राहक दूसरे बैंक खातों से कर सकते हैं क्रेडिट कार्ड बकाये का भुगतान

क्रेडिट कार्ड खरीदने से पहले आपको इस बात की जानकारी प्राप्त करनी होगी कि आखिर किन क्रेडिट कार्ड्स पर सबसे ज्यादा ऑफर दिए जाते हैं. अघर आप फिल्म देखने जा रहे हैं, फ्लाइट बुकिंग कर रहे हैं तो फिर आपको कितना भुगतान करना पड़ रहा है साथ ही आपको कितना छूट दिया जा रहा है. यह जानना आपके लिए सबसे महत्वपूर्ण है. Also Read - SBI क्रेडिट कार्ड होल्डर ध्यान दें, एक अक्टूबर से पेट्रोल-डीजल की खरीद पर नहीं मिलेगा कोई कैशबैक

अगर आप क्रेडिट कार्ड से ज्यादातर समय भुगतान करते हैं तो क्रेडिट कार्ड कंपनियां आपको रिवार्ड प्वाइंट देते हैं. इन्हें आप कैश या फिर नॉन मॉनेटरी गिफ्ट में भी बदल सकते हैं. बता दें कि अलग अलग कंपनियों के रिवार्ड प्वाइंट अलग अलग होते हैं. साथ ही आप कार्ड लेने से पहले यह जरूर चेक कर लें कि आपके कार्ड पर बिना इंट्रेस्ट के EMI की सुविधा है भी या नहीं. बता दें कि इस सुविधा का लाभ आपको महंगे सामानों की खरीददारी के वक्त समझ आएगा.

क्रेडिट कार्ड के जरिए आप एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं लेकिन कंपनी द्वारा इसपर ब्याज और शुल्क लगाया जाता है. ऐसे में आप न्यूनतम ब्याज और निकासी शुल्क वाले क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं. अक्सर कार्ड की बिलिंग करने में देर हो जाने पर बैंकों द्वारा आपसे एक्सट्रा चार्ज वसूला जाता है. ऐसे में आपको इस बात का ध्यान भी रखना होगा कि आखिर कौन सा बैंक बिलिंग तारीख के हिसाब से ज्यादा फ्लेक्सिबल है.