जैसे-जैसे तकनीक का विकास हो रहा है. हमारा परिवहन विभाग भी काफी एडवांस होता जा रहा है. साथ ट्रैफिक के नियमों को लेकर काफी सख्त होता जा रहा है. अगर परिवहन के नियमों का उल्लंघन करते हैं तो केवल पुलिस ही नहीं सक्रिय है, बल्कि कैमरे भी आप पर नजर रख रहे हैं. अगर आप ट्रैफिक के नियमों को तोड़ते हैं तो आपको निश्चित तौर पर चालान देना होगा. अगर आपने किसी भी ट्रैफिक नियम का उल्लंघन किया है तो आपके घर पर बिना आपकी जानकारी में घर पर चालान पहुंच जाएगा और आपको चालान जमा करना ही पड़ेगा. इन ट्रैफिक के नियमों में सिग्नल तोड़ना या ज्यादा स्पीड शामिल हैं. यहां पर इस आर्टिकल में हम आपको यह बताने जा रहे हैं कि चालान की स्थिति क्या है और किस तरह से ऑनलाइन चालान जमा करें.Also Read - हेलमेट पहनकर चलने के बाद भी कट सकता है चालान, भरना पड़ेगा 2000 जुर्माना, जानें क्या है नया नियम

ई चालान का भुगतान Also Read - बाइक लेकर निकलें तो जरूर रख लें ये कागज, कोई बहाना काम नहीं आएगा, कटेगा तगड़ा चालान

ई चालान की स्थिति के बारे में बात करने से पहले आपके लिए यह जानना जरूरी है कि ई चालान क्या है? ई चालान वह चीज है जिसे ट्रैफिक नियम का उल्लंघन करने पर हर भारतीय को देना होगा. यह परिवहन विभाग द्वारा जारी किया जाता है. इसके पहले इसका भुगतान आपको ट्रैफिक विभाग द्वारा बताए गए किसी जगह पर जाकर जमा करना होता था, लेकिन अब सरकार काफी एडवांस हो गई है. भारत सरकार की तरफ से एक पोर्ट लॉन्च किया गया है जिसे ई चालान-डिजिट/ट्रांसपोर्ट इनफोर्स सल्यूशन के नाम से जाना जाता है और ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा यहां पर मिलती है. Also Read - बिना गलती के पुलिस ने काट दिया ऑनलाइन चालान? ऐसे करें चैलेंज

ई चालान क्या है?

ई चालान आधुनिक प्रोग्रामिंग अप्लिकेशन है. जिसमें एंड्रायड आधारित पोर्टेबल अप्लिकेशन वेब इंटरफेस है. ई चालान को ट्रैफिक इनफोर्समेंट आफिसर और ट्रैफिक पुलिस द्वारा जारी किया जाता है. यह अप्लिकेशन वाहन और सारथी अप्लिकेशन ने इनकॉर्पोरेट किया है. इसमें वे सभी फीचर्स शामिल हैं साथ ही ट्रैफिक इनफोर्समेंट सिस्टम के लिए जरूरी सभी चीजें इसमें हैं. इससे न केवल कागज की बचत होती है बल्कि प्रॉसेस को और अधिक मजबूत कर देता है.

ई चालान का उद्देश्य क्या है?

भारत सरकार का उद्देश्य पेमेंट को आसान बनाना है ताकि देशवासियों को इधर-अधर भागदौड़ नहीं करना पड़े. इसके पहले जिसको जुर्माना भरना हो उसे कार्यालय जाकर लाइन में खड़ा होना पड़ता था. ई चालान के स्टार्ट होने से लोगों को ज्यादा दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ता है.

ई चालान को चेक करने का तरीका क्या है?

ई चालान को चेक करने के लिए पहले आपको परिवहन विभाग की वेबसाइट पर जाना होगा. होम पेज पर दिए गए चालान स्टेटस को चेक करना होगा. यह मेन्यू बार में ही स्थित होता है.

इसके बाद स्क्रीन पर एक नया पेज दिखाई देगा, जहां पर आपको चालान नंबर/गाड़ी का नंबर/डीएल नंबर चुनना होगा. उसके बाद दी गई सूचना के बारे में जानकारी करनी होगी. फिर आपको कैप्चा भरना होगा. फिर सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा.

इसके बाद आपको गेट डिटेल्स पर क्लिक करने का विकल्प आएगा. जिसके बाद सभी सूचनाएं आपके सामने आ जाएंगी.

इसके बाद आपको पे बटन पर क्लिक करना होगा. इसके बाद आपके सामने अपना चालाना भरने के लिए जुर्माने की राशि जमा करना होगी. अब सफलतापूर्वक किए गए भुगतान के बाद रसीद प्राप्त कर लें.

ई चालान भुगतान करने का तरीका

ई चालान के जरिए आप जुर्माने की राशि जमा कर सकते हैं. यह दोनों तरह उपलब्ध है, आप ऑनलाइन भरना चाहें तो ठीक है वर्ना ऑफलाइन भी जमा कर सकते हैं.

जानें-क्या है ऑनलाइन भुगतान का तरीका?

ट्रैफिक पुलिस द्वारा काटे गए चालान के दो तरह से जमा कर सकते हैं. यहां पर आपको यह बताया जा रहा है कि किस तरह से ऑनलाइन चालान भर सकते हैं. पहले तरीके के बारे में हम ऊपर बात कर चुके हैं. यहां पर दूसरे तरीके के बारे में बात करने जा रहे हैं.

सबसे पहले आप अपना पेटीएम खोलें. उसके बाद और विकल्प पर क्लिक करें. इसके बाद अन्य सर्विस ऑप्शन पर जाएं. चालान का विकल्प चुनें. ट्रैफिक अथॉरिटी का नाम चुनें. अब चालान नंबर भरें. अब प्रोसीड पर क्लिक करें और चालान का भुगतान करें.

जानिए- क्या है ऑफलाइन मोड?

ऑफलाइन चालान जमा करने के लिए आपको नजदीकी पुलिस स्टेशन पर जाना होगा. वहां पर आपको चालान की राशि को नगद देना होगा और रसीद लेनी होगी.