मुंबई। वित्तीय वर्ष 2016-17 ख़त्म होने में पांच दिन बचे हैं। ज़्यादातर लोगों ने टैक्स बचाने के लिए ऐसी जगह निवेश कर लिया होगा जो आयकर नीतियों के तहत आते हैं। मगर जिन लोगों ने अबतक निवेश नहीं किया है उन्हें हम बता रहे हैं कि टैक्स बचाने के लिए इन 5 जगहों पर निवेश किया जा सकता है। Also Read - Income Tax: अगर करते हैं नौकरी, तो जल्द करें ये काम; नहीं तो बैंक खाते में रकम आएगी कम और हो जाएंगे परेशान!

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (सार्वजनिक भविष्य निधि): एसबीआई सहित किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक में अगर आप पूरे दस्तावेज़ लेकर पब्लिक प्रोविडेंट फंड अकाउंट खोलने जाएं तो आपका खाता आधे घंटे में खुल सकता है बशर्ते आपके पास पूरे दस्तावेज हों। इसके तहत अधिकतम एक लाख पचास हजार रुपए और न्यूनतम 500 रुपये जमा किए जा सकते हैं। इस पर टैक्स में पूरी छूट मिलती है। Also Read - Old pension scheme: पुरानी पेंशन योजना की बहाली की उम्मीदों पर फिरा पानी, केंद्र ने कहा- विशेष वर्ग के लिए लागू कर पाना संभव नहीं

होम लोन: अगर आपके पास कुछ अतिरिक्त कैश या बैंक में बचत है और आप LIC, PPF और ELSS के ऊपर निवेश कर कुछ पैसे बचाने चाहते हैं और होम लोन भी लिया है तो आप पैसा बचा  सकते हैं। होम लोन की प्रिंसिपल रक़म पर 1.5 लाख रुपए तक की छूट पा सकते हैं। Also Read - LIC News: लैप्‍स हो चुकी पॉलिसी को फिर से शुरू करने का मौका दे रही है LIC, 7 जनवरी से 6 मार्च के बीच चलेगा अभियान

इक्विटी से जुड़ी बचत योजनाएं: इक्विटी से जुड़ी बचत योजनाएं या म्युच्यूअल फंड में निवेश कर आप अपने सालाना टैक्स में छूट पा सकते हैं। इसके अलावा आप बैंकों के पांच साल की अधिसूचित डिपॉजिट में भी निवेश कर सकते हैं। इससे आप सेक्शन 80 सी के तहत टैक्स में 1,50,000 तक की छूट पा सकते हैं।

मेडिक्लेम: मेडिकल इंश्योरेंस में निवेश कर आप सेक्शन 80 डी के तहत 25,000 रुपए तक की छूट पा सकते हैं। अगर आपके माता-पिता 60 साल से ऊपर हैं तो आपको 30,000 रुपए तक की छूट मिल सकती है।

नेशनल पेंशन स्कीम: नेशनल पेंशन स्कीम में निवेश कर आप  1,50,000 तक इनकम टैक्स पर छूट पा सकते हैं।