Hwo to File Nil GST return: माल एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद की 12 जून को होने वाली बैठक से पहले सरकार ने एक नई सुविधा शुरू की है. टैक्‍स भरने वालों को बड़ी सुविधा प्रदान करते हुए सरकार ने आज से निल जीएसटी कारोबारियों के लिए बड़ी राहत का ऐलान किया है. Also Read - पीएम नरेंद्र मोदी का बयान- हम दिल्ली के आरामदायक दफ्तरों में बैठकर फैसले नहीं करते

इस नई सुविधा के मुताबिक अब कारोबारी एसएमएस के जरिये निल जीएसटी रिटर्न भर सकते है. इससे करीब 22 लाख रजिस्‍टर्ड टैक्‍सपेयर को फायदा होगा. कारोबारियों को यह सुविधा 5 अंकों वाले एक विशेष मोबाइल नंबर के जरिए प्रदान की जाएगी. Also Read - चीनी उत्पादों के बहिष्कार के लिए इस्लामी संगठन ने जारी किया फतवा, कहा- हम सेना और सरकार के साथ

अब, NIL करदाताओं को GST पोर्टल पर लॉग इन करने की आवश्यकता नहीं है. वे एक एसएमएस के माध्यम से अपने NIL रिटर्न दाखिल कर सकते हैं. एक बयान के अनुसार, एसएमएस के जरिए Nil FORM GSTR-3B दाखिल करने की कार्यक्षमता को तत्काल प्रभाव से जीएसटीएन पोर्टल पर उपलब्ध कराया गया है. Also Read - भारत-चीन सीमा विवाद पर मायावती का बयान- नाजुक समय में देश है एकजुट, भारत सरकार लेगी सही फैसला

इसका लाभ उठाने के लिए कारोबारियों को अपने मोबाइल के मैसेज बॉक्स में जाकर NIL टाइप करना होगा फिर उन्हें स्पेस देकर अपना GST नंबर लिखना होगा और एक और स्पेस देते हुए 3 बी लिखना होगा.

यह SMS नए जारी किए जाने वाले 5 अंकों के विशेष नंबर पर भेजना होगा. संदेश भेजते ही कारोबारी के जीएसटी रजिस्ट्रेशन के दौरान रजिस्टर्ड किए गए मोबाइल नंबर पर एक वन टाइम पासवर्ड यानी OTP आएगा. उसकी पुष्टि करते ही कारोबारी का रिटर्न दाखिल हो जाएगा.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अगुवाई में जीएसटी परिषद की 40वीं बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये होगी. इसमें राज्यों के वित्त मंत्री भी भाग लेंगे. सूत्रों ने बताया कि बैठक में इस महामारी के केंद्र और राज्यों के राजस्व पर पड़ने वाले असर और इसकी भरपाई के कदमों पर विचार किया जाएगा. कर संग्रह के खराब आंकड़ों तथा रिटर्न दाखिल करने की तारीख आगे बढ़ाए जाने की वजह से सरकार ने अप्रैल और मई माह के जीएसटी संग्रह के आंकड़े जारी नहीं किए हैं.