नई दिल्ली. आईडीबीआई (IDBI) बैंक के निदेशक मंडल ने बैंक का नाम बदलने का प्रस्ताव किया है. एलआईसी के बैंक के अधिग्रहण के बाद इसका नाम बदलकर एलआईसी आईडीबीआई बैंक या एलआईसी बैंक (LIC Bank) रखने का प्रस्ताव किया गया है. पिछले महीने भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) ने आईडीबीआई बैंक में 51 प्रतिशत हिस्सेदारी का अधिग्रहण पूरा किया. इसके साथ देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी ने बैंक क्षेत्र में कदम रखा.

निदेशक मंडल ने सोमवार को हुई बैठक में आईडीबीआई बैंक का नाम बदलने के प्रस्ताव को मंजूरी दी. यह आरबीआई से मंजूरी, नाम की उपलब्धता या कारपोरेट कार्य मंत्रालय की अगर कोई आपत्ति है, शेयरधारकों की मंजूरी, शेयर बाजारों की मंजूरी आदि पर निर्भर है. निदेशक मंडल ने बैंक का नाम एलआईसी आईडीबीआई बैंक लि. नाम को तरजीह दी है. इसके अलावा एलआईसी बैंक लि. नाम का भी सुझाव दिया गया है.

इससे पहले फंसा कर्ज बढ़ने से आईडीबीआई बैंक का घाटा करीब तीन गुना बढ़ गया. चालू वित्त वर्ष की दिसंबर 2018 में समाप्त तीसरी तिमाही में उसका घाटा बढ़कर 4,185.48 करोड़ रुपए पर पहुंच गया. पिछले वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में बैंक को 1,524.31 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था. आईडीबीआई बैंक ने एक दिन पहले दिए अपने बयान में कहा कि समीक्षाधीन अवधि में उसकी कुल आय घटकर 6,190.94 करोड़ रुपए रह गई. पिछले वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में उसकी आय 7,125.20 करोड़ रुपए थी.

(इनपुट – एजेंसी)