नई दिल्ली: जापान की वाहन कंपनी होंडा ने कहा है कि वह भारतीय बाजार में काफी जल्दी इलेक्ट्रिक वाहन ला सकती है. कंपनी ने कहा है कि यदि बाजार की पर्याप्त मांग हो जिससे हम टिक सकें तो हम इलेक्ट्रिक वाहन पेश कर सकते हैं. भविष्य के वाहनों के लिए कई तरह की प्रौद्योगिकियों पर विचार करने की जरूरत है. कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी. Also Read - IND vs AUS 4th Test Live Streaming: जानें कब और कहां देखें भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच चौथे टेस्ट का LIVE टेलीकास्ट और ऑनलाइन स्ट्रीमिंग

होंडा भारत में पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी के जरिए मौजूद है. वह यहां आठ मॉडल बेचती है. कंपनी भारतीय बाजार में इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) लाने की रणनीति पर काम कर रही हैं. Also Read - 83 तेजस बढ़ाएंगे भारत की ताकत, Indian Air Force के इस फाइटर जेट की 12 व‍िशेषताएं जानें यहां

होंडा कार्स इंडिया लि.(एचसीआईएल) के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं निदेशक (बिक्री एवं विपणन) राजेश गोयल ने कहा, ” जहां तक इलेक्ट्रिक वाहन का सवाल है, कुछ वजह से ऐसा लगता है कि हम इस प्रौद्योगिकी का समर्थन नहीं करते हैं. यह सही नहीं है. हमारे पास ईवी प्रौद्योगिकी है और हम इसे यहां काफी जल्दी ला सकते है.” Also Read - DNA होगा, आत्मनिर्भर भी बनेगी: अब ऐसे बदलेगी पाकिस्तान से आई गीता की जिंदगी, कभी सुषमा स्वराज ने...

होंडा कार्स इंडिया लि. के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं निदेशक गोयल ने कहा कि कंपनी ईवी रणनीति पर काम कर रही है और यह समय पर तैयार हो जाएगी. हम जब बाजार की मांग होगी यहां ईवी ला सकेंगे. गोयल ने कहा कि भारत जैसे देश में हम कई तरह की प्रौद्योगिकियों पर ध्यान दे सकते हैं. इनमें हाइब्रिड भी है. इससे हम उत्सर्जन घटा सकते हैं और वायु प्रदूषण में कमी ला सकते हैं. गोयल ने कहा, ”पूर्ण रूप से इलेक्ट्रिक वाहन पर कदम बढ़ाने के लिए हम सिर्फ यह कहना चाहते हैं कि हमें कई प्रौद्योगिकियों पर ध्यान देना चाहिए.”

उन्होंने कहा कि ईवी प्रौद्योगिकी कंपनी के लिए कोई मुद्दा नहीं है, क्योंकि वह इस प्रकार के वाहनों को दुनिया भर में पहले से बेच रही है. बता दें कि तेल आयात और प्रदूषण में कमी लाने के मकसद से सरकार जैव-ईंधन, एथनॉल और मेथनॉल ईंधन के साथ इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दे रही है.