नई दिल्ली: कोरोना वायरस की वजह से लागू लॉकडाउन का बुरा असर यात्री वाहनों की बिक्री पर पड़ा है. वाहन डीलरों के संगठन फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशंस (फाडा) के अनुसार मई में यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री 86.97 प्रतिशत घटकर 30,749 इकाई रह गई. मई, 2019 में यह 2,35,933 इकाई थी. फाडा द्वारा 1,435 में से 1,225 क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों (आरटीओ) से वाहनों के पंजीकरण के आंकड़े जुटाए जाते हैं. Also Read - यात्री वाहनों की बिक्री में सितंबर में आयी लगातार 11वें महीने गिरावट

आंकड़ों के अनुसार मई में दोपहिया की बिक्री 88.8 प्रतिशत घटकर 1,59,039 इकाई रह गई, जो एक साल पहले समान महीने में 14,19,842 इकाई थी. इसी तरह वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 96.63 प्रतिशत घटकर मात्र 2,711 इकाई रही, जो मई, 2019 में 80,392 इकाई थी. तिपहिया की बिक्री भी 96.34 प्रतिशत घटकर 1,881 इकाई रह गई, जो एक साल पहले समान महीने में 51,430 इकाई थी. मई में विभिन्न श्रेणियों में वाहनों की कुल बिक्री 88.87 प्रतिशत घटकर 2,02,697 इकाई रह गई, जो मई, 2019 में 18,21,650 इकाई थी. Also Read - महिंद्रा गाड़ियों की बिक्री 26% बढ़ी, पैसेंजर गाड़ियों की सेल में भी इजाफा

फाडा के अध्यक्ष आशीष हर्षराज काले ने कहा, ‘‘मई के अंत में 26,500 आउटलेट्स में से करीब 60 प्रतिशत शोरूम और 80 प्रतिशत वर्कशॉप परिचालन में थीं. मई के पंजीकरण आंकड़े मांग की सही स्थिति को नहीं दर्शाते हैं, क्योंकि देश के कई हिस्सों में इस दौरान लॉकडाउन जारी था.’’ उन्होंने कहा कि जून के पहले दस दिन में कई डीलरशिप खुलने के बावजूद मांग काफी कम है. Also Read - Maruti, Hyundai Dominance on Passenger Vehicle market in December | दिसंबर में यात्री वाहन बाजार पर मारुति, हुंडई का दबदबा