नई दिल्ली: देश के आयकर विभाग ने बिटकॉयन जैसी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वाले करीब एक लाख लोगों को नोटिस जारी किया है, जिन्होंने अपने आयकर रिटर्न में इसका उल्लेख नहीं किया है. एक शीर्ष अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के अध्यक्ष सुशील चंद्रा ने यहां एसोचैम के एक कार्यक्रम में यह खुलासा किया. Also Read - सरकार और किसानों के बीच 8वें दौर की होगी वार्ता, ट्रैक्टर मार्च से कर चुके हैं शक्ति प्रदर्शन

वर्चुअल मुद्राओं में सरकार द्वारा विनिमयमन की चिंता से गिरावट का रुख है. यही कारण है कि बिटकॉयन मंगलवार को हांगकांग बाजार में नवंबर से अपने सबसे निम्नतम स्तर 5,992 डॉलर तक गिर गया. Also Read - Bitcoin पर GST लगाने की तैयारी में RBI, आर्थिक खूफिया विभाग ने भेजा प्रस्ताव

उन्होंने एसोचैम द्वारा आयोजित बजट-बाद सम्मेलन में कहा, जिन लोगों ने क्रिप्टोकरेंसी में निवेश किया है, उन्होंने रिटर्न दाखिल करते समय इससे होनेवाली आय का खुलासा किया है और इसमें निवेश से प्राप्त होने वाले लाभ पर कर का भुगतान नहीं किया है. हम उन्हें कर जमा करने का नोटिस भेज रहे हैं. Also Read - Farmers-Govt Talks: 21 दिन बाद क‍िसान-सरकार वार्ता शुरू, 40 किसान नेता और तीन केंद्रीय मंत्री कर रहे बातचीत

चंद्रा के मुताबिक, आयकर विभाग ने क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वाले लोगों की जानकारी प्राप्त करने के लिए कई सर्वेक्षण किए हैं. उन्होंने कहा कि कई लोगों द्वारा किए गए निवेश में पारदर्शिता नहीं है और उन्होंने इसकी घोषणा नहीं की है.