ज्यूरिख/ नई दिल्ली: स्विस बैंकों में भारतीयों द्वारा रखे जाने वाले धन के मामले में भारत का स्थान एक पायदान नीचे फिसलकर 74वें स्थान पर आ गया है. जबकि ब्रिटेन अब भी शीर्ष स्थान पर बना हुआ है. स्विट्जरलैंड के केंद्रीय बैंक स्विस नेशनल बैंक द्वारा जारी आंकड़ों में यह बात सामने आई है. दुनियाभर के लोगों ने जितना धन स्विटजरलैंड के बैंकों में जमा कराया है, उसका मात्र 0.07 प्रतिशत धन ही भारतीयों का वहां जमा है. Also Read - लगातार दूसरा शतक जड़ने वाले स्मिथ ने किया खुलासा- दूसरे वनडे में खेलने पर संशय था

Also Read - IND vs AUS 2nd ODI Live Streaming: कब-कहां और कैसे देखें भारत vs ऑस्ट्रेलिया दूसरे वनडे की Online स्ट्रीमिंग और Live Telecast

प्रचंड गर्मी के चलते दिल्‍ली में 8वीं तक के छात्रों के लिए ग्रीष्‍म अवकाश की अवधि एक हफ्ते बढ़ी Also Read - भारत की मेजबानी में 30 नवंबर को एससीओ नेताओं की बैठक में भाग लेंगे चीन के प्रधानमंत्री

पिछले साल इस सूची में भारत का स्थान 73वां था, जबकि उससे पिछले साल यह 88वें पर था. केंद्रीय बैंक के आंकड़ों का आंकलन दिखाता है कि भारतीयों या भारतीय कंपनियों ने स्विस बैंकों में कम पैसा जमा कराया है. दुनियाभर के ग्राहकों द्वारा स्विस बैंकों में जमा कराए गए कुल धन का यह मात्र 0.07 प्रतिशत है.

ट्रैक्टर हुआ बेकाबू, पोखरे में गिरने से दादा और तीन पोते-पोतियों समेत 4 की मौत

ब्रिटेन इस सूची में शीर्ष पर है. 2018 के अंत तक ब्रिटेन के निवासियों या कंपनियों ने स्विस बैंकों में जमा कराए कुल विदेशियों के धन का करीब 26 प्रतिशत जमा किया है. ब्रिटेन के बाद इस सूची में क्रमश: अमेरिका, वेस्टइंडीज, फ्रांस और हांगकांग का स्थान है.

रात में पुलिस ने दो युवकों की ली तलाशी तो बैग से निकले 81 लाख रुपए नकद

शीर्ष पांच देशों द्वारा स्विस बैंक में जमा कराया गया धन कुल विदेशियों द्वारा जमा कराए गए धन के 50 प्रतिशत से अधिक है. जबकि शीर्ष-15 देशों की सूची में यह धन 75 प्रतिशत के आसपास पहुंच जाता है, जबकि शीर्ष-30 की हिस्सेदारी 90 प्रतिशत है. शीर्ष-10 की सूची में बहमास, जर्मनी, लक्जमबर्ग, केमैन आईलैंड और सिंगापुर शामिल है.

VIDEO: MLA समर्थकों ने महिला फॉरेस्‍ट अफसर पर बोला हमला, आगे जो हुआ वह खौफनाक है