India Railways/IRCTC: इंडियन रेलवे समय-समय पर अपने नियमों में बदलाव करता रहता है और अगर आप भी ट्रेन से यात्रा करते हैं तो रेलवे के नए नियमों की जानकारी आपको भी होनी चाहिए. रेलवे यात्रियों की सुविधा के लिए अपने नियमों में फेरबदल करता रहता है ताकि लोगों की यात्रा सुखद हो. इसीलिए सभी रेल यात्रियों को  इसकी जानकारी होना जरूरी है. रेलवे ने फिर से कुछ ऐसे नियम बनाए हैं जिससे यात्रियों को सुविधा मिल सके है. इसमें एक नियम यात्रियों की नींद से जुड़ा है. तो अगर आप ट्रेन के जरिए सफर करते हैं तो यह खबर आपके काम की है ,ताकि आपका सफर भी सुखद हो और आपके साथ यात्रा कर रहे अन्य सह यात्रियों का भी.Also Read - रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी! घर से नहीं लाने होंगे अब ये सामान, अगले महीने तक सभी ट्रेनों में मिलने लगेगी यह सुविधा

की ऐसी हरकत तो रेलवे करेगा कार्रवाई, जान लीजिए

एक न्यूज वेबसाइट की खबर के मुताबिक रेलवे ने नए नियम लागू किए हैं. इसके मुताबिक अब आपके आसपास कोई भी सहयात्री रात में तेज आवाज में मोबाइल पर बात नहीं कर सकता और न ही वह ऊंची आवाज में गाने सुन सकता है. अगर वह ऐसा करता है तो यात्रियों की ओर से की गई शिकायत के बाद रेलवे उसपर कार्रवाई कर सकती है. रेलवे ने यह नियम इसलिए बनाया है ताकि इससे यात्रियों की नींद में ख़लल नहीं पड़े. इन नियमों को नहीं मानने वालों के लिए कार्रवाई का भी प्रावधान है. Also Read - सुनहरा मौका! IRCTC के जरिए सबसे सस्ते में बुक करिये होटल, घूमिये इन जगहों पर बेफिक्र होकर

रेलवे ने जारी किए हैं आदेश

रेलवे के नए नियमों के अनुसार यदि किसी ट्रेन में यात्री की ओर से शिकायत करने पर उसका समाधान नहीं किया गया तो यह ट्रेन स्टाफ की जिम्मेदारी होगी और उसपर भी कार्रवाई संभव है. रेलवे मंत्रालय की तरफ से सभी जोन्स को यह आदेश जारी कर दिया गया है कि नियमों को तत्काल प्रभाव से लागू किया जाए और इनका पालन सुनिश्चित किया जाए. Also Read - भारत-बांग्लादेश के बीच ट्रेन सेवा 29 मई से फिर होगी बहाल, जानें रेल मंत्रालय से क्या आया अपडेट

रेल मंत्रालय को मिली थी शिकायत

गौतलब है कि रेल मंत्रालय को अक्सर यात्रियों की शिकायत पहुंचती थी कि उनका सहयात्री तेज आवाज में मोबाइल पर गाने सुन रहा है. इसके अलावा एक शिकायत ऐसी भी मिली थी कि लोग ग्रुप में बैठकर ऊंची आवाज में बातें कर रहे हैं. वहीं लाइट जलाने और बुझाने को लेकर भी कई बार विवाद हुआ है. इसी वजह से मंत्रालय ने नए नियम बनाए हैं.