Coronavirus vaccine Latest Update: दुनियाभर के विशेषज्ञों ने यह अनुमान जताया है कि  भारत 1.6 अरब खुराक के साथ दुनिया में कोविड-19 टीके का सबसे बड़ा खरीदार होगा. वैज्ञानिकों का कहना है कि इतने टीके से 80 करोड़ लोगों या आबादी के 60 प्रतिशत हिस्से का टीकाकरण हो जाएगा और हर्ड इम्युनिटी विकसित करने के लिए भी इतनी संख्या पर्याप्त होगी. ध्यान रहे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कोरोना पर सर्वदलीय बैठक में कहा कि कोरोना वैक्सीन आते ही टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया जाएगा. Also Read - Coronavirus vaccine: ये लोग भूलकर भी ना लगाएं कोरोनावाय़रस की वैक्सीन, नहीं तो हो सकती है इस तरह की परेशानी

पीएम मोदी ने कोरोना वैक्सीन को लेकर दी अहम जानकारी Also Read - भारत अपने पड़ोसी देशों के लिए बना संकटमोचक, इन देशों को आज भेजे जाएंगे Vaccine

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा है कि अगले कुछ हफ्तों में कोरोना वायरस वैक्‍सीन (Coronavirus vaccine) तैयार हो जाएगी. उन्‍होंने शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक में कहा कि ‘जैसे ही वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलेगी, भारत में टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया जाएगा।’ Also Read - Coronavirus Vaccine Side Effects India: कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद दिखें ये साइड इफेक्ट्स, तो...

प्रधानमंत्री मोदी ने ये भी कहा कि ‘पहले चरण में किसे वैक्सीन लगेगी, इसे लेकर भी केंद्र सरकार राज्य सरकारों से मिले सुझावों के आधार पर काम कर रही है.’ सरकार ने पहले चरण के लिए चार प्राथमिकता समूहों की पहचान की है. इनमें जरूरी सेवाओं से लेकर ऐसे लोग शामिल होंगे जिन्‍हें कोविड-19 से ज्‍यादा खतरा है. पीएम मोदी ने इन ग्रुप्‍स के बारे में भी बताया.

जानिए सबसे पहले किन्हें दिया जाएगा कोरोना टीका

पीएम मोदी ने शुक्रवार को बताया कि ‘”टीकाकरण अभियान में प्राथमिकता कोरोना के मरीजों के इलाज में जुटे हेल्‍थकेयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और जो पहले से गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं, वैसे बुजुर्ग लोगों को दी जाएगी.”

पहला प्रॉयरिटी ग्रुप है हेल्‍थकेयर वर्कर्स का, जिनमें वो लोग हैं जिन्‍होंने महामारी की शुरुआत से लड़ाई लड़ी है. डॉक्‍टर्स, नर्सेज, पैरामेडिक्‍स, हेल्‍थकेयर सपोर्ट स्‍टाफ इस ग्रुप में शामिल होंगे. टीके पर सबसे पहला अधिकार इन्‍हीं का होगा.

दूसरा प्रॉयरिटी ग्रुप है फ्रंटलाइन वर्कर्स का, जिसमें हेल्‍थकेयर के अलावा कई ऐसी सेवाएं रहीं हैं जिन्‍होंने महामारी के समय में भी नागरिकों का ध्‍यान रखना नहीं छोड़ा. जैसे सेना, पुलिस, फायर ब्रिगेड, नगर निगम जैसे सेक्‍टर्स इसका हिस्‍सा होंगे.कोविड वैक्‍सीन की लिस्‍ट में उनका नंबर दूसरा होगा

तीसरे चरण में ऐसे लोगों को टीका दिया जाएगा जिनकी उम्र 50 साल से ज्‍यादा है. कोविड-19 का प्रभाव इससे ज्‍यादा उम्र वाले लोगों पर अधिक देखने को मिला है. मौतों के आंकड़े भी 50 साल से ज्‍यादा उम्र वाले मरीजों में ज्‍यादा हैं.

चौथा प्रॉयरिटी ग्रुप ऐसे लोगों का होगा जो 50 साल से कम उम्र के होंगे मगर उन्‍हें पहले से गंभीर बीमारियां हैं.यह पहले चरण का दूसरा सबसे बड़ा प्रॉयरिटी ग्रुप होगा.

WHO ने कही है ये बड़ी बात

कोरोना महामारी के प्रकोप के बीच विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) ने उम्‍मीद जाहिर की है कि 2021 की पहली तिमाही तक 50 करोड़ लोगों को वैक्‍सीन की खुराक दी जाएगी. विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) ने शुक्रवार को वैक्‍सीन (Corona Vaccine)वितरण का रोडमैप जारी करते हुए कहा कि COVAX कार्यक्रम में शामिल 189 मुल्‍कों में टीके के समान वितरण को सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाएगा. ये खबर निश्चित ही राहत देने वाली है.