नई दिल्ली: मोबाइल पर इंटनेट सुविधाओं के उपयोग के मामले में भारत को नंबर एक देश बनाने में अग्रणी भूमिका निभाने वाली सेवा प्रदाता रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने बृहस्पतिवार को कहा कि Jio के फाइबर आधारित ब्रॉडबैंड से देश फिक्स्ड लाइन ब्रॉडबैंड डाटा का इस्तेमाल करने वाले शीर्ष तीन देशों में शामिल हो सकता है. देश वर्तमान में इस सूची में 135वें स्थान पर है.

साल 2016 में बेहद कम दर पर मोबाइल डेटा के साथ निशुल्क फोन कॉल और एसएमएस सुविधा की पेशकश करके Jio ने दूरसंचार उद्योग में नई क्रांति का सूत्रपात किया था. इस समय भारत भारत मोबाइल इंटरनेट पर डेटा का सर्वाधिक इस्तेमाल करने वाला देश है. मोबाइल क्षेत्र के बाद अब Jio अपने महत्वाकांक्षी फाइबर केबल लाइनों पर आधारित ब्रॉडबैंड सेवाओं को लागू करने की दिशा में काम कर रहा है.

दुनिया चकित रह जाएगी !
अंबानी ने इंडिया मोबाइल कांग्रेस को संबोधित करते हुए कहा, “पहले दिन से जियोगिगाफाइबर फिक्स्ड लाइन ब्रॉडबैंड और मोबाइल डाटा प्रौद्योगिकी के पूरे संगम वाली सुविधा उपलब्ध कराएगा. इस दौरान भारतीयों को घर से बाहर जाने पर 4G और 5G तकनीक का लाभ मिलेगा या घर पर रहने पर वाईफाई की सुविधा मिलेगी. जियो मोबाइल पर मुकेश अम्बानी के संबोधन का लाइव प्रसारण किया गया जिसकी अधिसूचना Jio ने कल ही जारी कर दी थी.

मिस्त्री ने टाटा ग्रुप से अपनी विदाई के 2 साल पूरे होने पर स्टार्टअप फंड की घोषणा की

हर परिसर को उच्च गुणवत्ता के नेटवर्क से जोड़ने का लक्ष्य जाहिर करते हुए अंबानी ने कहा कि इस कदम से मोबाइल डेटा के इस्तेमाल के क्षेत्र में मिली सफलता को फिक्स्ड ब्रॉडबैंड के क्षेत्र में भी दोहराने के अवसर हैं. उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि फिक्स्ड ब्रॉडबैंड के क्षेत्र में भारत 135वें स्थान से शीर्ष तीन देशों में इतनी तेजी के साथ शामिल हो जाएगा कि पूरी दुनिया चकित रह जाएगी.” (इनपुट एजेंसी)