नई दिल्लीः भारतीयों पर्यटकों के लिए हमेशा से नेपाल एक पसंदीदा जगह रही है. लेकिन नेपाल सरकार के एक ताजा फैसले से भारतीयों को झटका लग सकता है. वहां की सरकार ने फैसला किया है कि भारत के 2000, 500 और 200 रुपये के नोट अब वैध नहीं रहेंगे. नेपाल में अब तक सभी मूल्य की भारतीय मुद्राएं अबाध रूप से चलन में थीं.

नेपाल के सूचना मंत्री गोकुल बासकोट ने गुरुवार को इस फैसले की घोषणा की. दरअसल, भारत सरकार ने 2016 में नोटबंदी के बाद ये नए नोट जारी किए हैं. नवंबर 2016 में की गई नोटबंदी के तहत भारत सरकार ने उस वक्त चलन में रहे 1000 और 500 रुपये के पुराने नोटों को अमान्य कर दिया था. इसके बाद नेपाल सरकार ने दो हजार, 500 और 200 रुपये के नए नोट के बारे में कोई फैसला नहीं लिया. पिछले दो साल से अधिक समय से ये नए भारतीय नोट नेपाल में धड़ल्ले से चल रहे थे. अब इस फैसले से भारत में काम करने वाले नेपाली लोगों और भारतीय पर्यटकों को दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है.

नेपाल सरकार ने ये फैसला ऐसे वक्त में किया जब वहां की सरकार 2020 को ‘विजिट नेपाल ईयर’ के रूप में मनाने की घोषणा कर चुकी है. नेपाल सरकार की योजना है कि उस साल कम से कम 20 लाख पर्यटक नेपाल हैं. वैसे नेपाल आने वाले पर्यटकों में एक बड़ी संख्या भारतीयों की होती है. वहां की सरकार के इस फैसले नेपाल जाने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या घट सकती है.