IRCTC/Indian Railway: तो क्या अब रेलवे का पूरी तरह से निजीकरण किया जा रहा है और यात्रियों को मिलने वाली सभी सुविधाएं बंद हो जाएंगी. हम नहीं कह रहे ये बात..सोशल मीडिया पर काफी दिनों से एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया जा रहा है कि अब भारतीय रेलवे (Indian Railways) का पूरी तरह से निजीकरण किया जाएगा. ये मैसेज ट्विटर से लेकर वॉट्सऐप पर भी काफी लोगों के बीच शेयर किया जा रहा है.Also Read - Indian Railways: सरकार सान्याल समिति के सुझावों के आधार पर रेलवे संचालन के पुनर्गठन पर कर रही विचार

हालांकि अभी तक इस मामले को लेकर न ही सरकार की ओर से कोई प्रतिक्रिया आई और न ही रेल मंत्री ने रेलवे के निजीकरण होने को लेकर कोई टिप्पणी की है. Also Read - Indian Railway Recruitment 2021: भारतीय रेलवे में इन पदों पर बिना परीक्षा पा सकते हैं नौकरी, 10वीं पास जल्द करें आवेदन, होगी अच्छी सैलरी

PIB ने कहा कि ये वीडियो फर्जी है. वायरल पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि ‘भारतीय रेलवे (Indian Railways) का पूरी तरह से निजीकरण किया जाएगा और साथ ही मासिक पास और वरिष्ठ नागरिकों को मिलने वाली छूट, जैसी सुविधाएं समाप्त कर दी जाएंगी.’ PIBFactCheck की फैक्ट चेक टीम ने इसे महज एक अफवाह बताया है और कहा कि रेलवे का कोई निजीकरण नहीं होना जा रहा है. Also Read - Indian Railway Recruitment 2021: भारतीय रेलवे में इन 3093 पदों पर निकली वैकेंसी, 10वीं पास करें आवेदन, होगी अच्छी सैलरी

PIB Fact Check ने अपने आधिकारिक ट्विटर पर लिखा, #PIBFactCheck: यह दावा फर्जी है. केंद्र सरकार द्वारा ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है

पीयूष गोयल ने  कही है ये बात….
गौरतलब है कि इससे पहले भी पिछले दिनों केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी बयान में कहा था कि रेलवे का निजीकरण नहीं किया जाएगा. भारतीय रेल जनता की है और जनता की रहेगी.

उन्होंने अलवर जिले के डिगावडा में बांदीकुई तक 34 किलोमीटर के रेल ट्रैक का विद्युतीकरण का उद्घाटन के दौरान यह बात कही थी. उन्होंने कहा था कि भारतीय रेल का निजीकरण नहीं किया जाएगा. इतने सालों से जो रेल का विकास होना चाहिए वह अभी तक नहीं हुआ है इसलिए भारतीय रेल पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत भागीदारी की जा रही है.