मुंबई: अमेरिकी ब्रोकरेज फर्म बीओएफए सिक्योरिटीज ने कहा कि वह जिन गतिविधि संकेतकों पर नजर रखती है, उनके मुताबिक भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) ‘‘कमजोर’’ बनी हुई है. सकारात्मक पक्ष के बारे में ब्रोकरेज फर्म ने कहा कि ऋण की मांग अपने सबसे निचले स्तर पर पहुंच चुकी है, यानी यहां से अब मांग बढ़ने के आसार हैं.Also Read - पीपीएफ योजना: हर महीने PPF में करें 1,000 रुपये का निवेश, मिलेंगे 18 लाख रुपये से अधिक, जानें- कैसे?

थोक मुद्रास्फीति में गिरावट के साथ ही वास्तविक उधारी दरें समायोजित हुई हैं. सरकार को उम्मीद है कि महामारी के चलते वित्त वर्ष 2020-2021 में जीडीपी 7.7 प्रतिशत घटेगी. ब्रोकरेज फर्म ने कहा, ‘‘बुरी खबर यह है कि हमारे बोफा भारत गतिविधि सूचकांग में जारी गिरावट हमारे नजरिए को मजबूत करती है कि अर्थव्यवस्था अभी भी कमजोर बनी हुई है.’’ Also Read - Gold Price: महंगाई और मंदी से दबाव में ‘सोना’ | कीमतों में गिरावट का रुझान रहने के आसार | Watch Video

ब्रोकरेज फर्म ने कहा कि सूचकांक में नवंबर के दौरान 0.6 प्रतिशत की गिरावट हुई, जबकि अक्टूबर में यह आंकड़ा नकारात्मक 0.8 प्रतिशत और सितंबर में नकारात्मक 4.6 प्रतिशत था. Also Read - वित्त मंत्रालय ने कहा- भारत 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की राह पर, तेजी से हो रहा सुधार