मुंबई: देश का विदेशी मुद्रा भंडार में बीत सप्ताह भी तेजी का रुख जारी रहा और 12 अप्रैल को समाप्त सप्ताह में यह 1.105 अरब डॉलर बढ़कर 414.886 अरब डॉलर हो गया. भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों में इसकी जानकारी दी है.

विकास की रफ्तार में आई सुस्ती तो रेटिंग एजेंसी फिच ने घटाया GDP वृद्धि दर का अनुमान

इससे पिछले सप्ताह विदेशी मुद्रा भंडार 1.876 अरब डॉलर बढ़कर 413.781 अरब डॉलर हो गया था. इस तेजी में रिजर्व बैंक द्वारा पहली बार डॉलर-रुपया की अदला बदली कार्यक्रम ने काफी मदद की. रिजर्व बैंक ने कहा कि समीक्षाधीन सप्ताह में, विदेशी मुद्रा भंडार का अहम हिस्सा मानी जाने वाली विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां 64.64 करोड़ डॉलर बढ़कर 386.762 अरब डॉलर हो गईं. डॉलर में अभिव्यक्त किये जाने वाली विदेशी मुद्रा आस्तियां, मुद्रा भंडार में रखे यूरो, पौंड और येन जैसी गैर-अमेरिकी मुद्राओं की मूल्यवृद्धि अथवा मूल्यह्रास के प्रभावों को शामिल करती हैं.

टीवीएस, सुजुकी, पियाजियो की 2018-19 में देश के स्कूटर बाजार में बढ़ी हिस्सेदारी

स्वर्ण भंडार में भी बढ़ोत्‍तरी
केन्द्रीय बैंक ने कहा कि समीक्षाधीन सप्ताह में देश का आरक्षित स्वर्ण भंडार 7.74 करोड़ डॉलर बढ़कर 23.303 अरब डॉलर हो गया. सप्ताह के दौरान अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) के पास सुरक्षित (विशेष) विशेष निकासी अधिकार 33 लाख डॉलर बढ़कर 1.458 अरब डॉलर हो गया. केन्द्रीय बैंक ने कहा कि आईएमएफ में देश का आरक्षित भंडार भी 37.81 करोड़ डॉलर बढ़कर 3.362 अरब डॉलर हो गया.