मुंबई: देश का विदेशी मुद्रा भंडार 25 अक्टूबर को समाप्त सप्ताह में 1.832 अरब डॉलर बढ़कर 442.583 अरब डॉलर के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया. इसका कारण विदेशी मुद्रा आस्तियों में हुई बढ़ोतरी है. भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. Also Read - Coronavirus: EMI भुगतान के SMS से कर्जदारों में तीन महीने की मोहलत को लेकर भ्रम

इससे पिछले सप्ताहांत विदेशीमुद्रा भंडार 1.04 अरब डॉलर बढ़कर 440.751 अरब डॉलर हो गया था. रिजर्व बैंक ने कहा कि आलोच्य सप्ताह के दौरान विदेशी-मुद्रा परिसंपत्तियां 1.642 अरब डॉलर बढ़कर 410.453 अरब डॉलर हो गयी. विदेशी मुद्रा परिसम्पत्तियां विदेशी मुद्रा भंडार का महत्वपूर्ण हिस्सा है. रिजर्व बैंक की रपट के अनुसार इस दौरान आरक्षित स्वर्ण भंडार का मूल्य 19.1 करोड़ डॉलर बढ़कर 27.052 अरब डॉलर हो गया. Also Read - कोरोना का कहर, सरकार और RBI के प्रोत्साहन के बावजूद झेलनी पड़ी आर्थिक गिरावट

अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष से विशेष आहरण अधिकार 10 लाख डॉलर बढ़कर 1.441 अरब डॉलर हो गया. रिजर्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार अंतराष्ट्रीय मुद्राकोष के पास देश के मुद्राभंडार की स्थिति 20 लाख डॉलर घटकर 3.637 अरब डॉलर रह गयी. Also Read - PM मोदी ने कहा, RBI की घोषणाएं अर्थव्यवस्था को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाएंगी