मुंबई: एक्जिट पोल में भाजपा की अगुवाई में एनडीए की सत्ता में वापसी के अनुमान के बाद सोमवार को बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 1,422 अंक की छलांग लगा गया और इससे शेयर बाजार के निवेशकों की पूंजी एक दिन में ही 5.33 लाख करोड़ रुपए बढ़ गई. सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 1,51,86,312.05 करोड़ रुपए पर पहुंच गया, जबकि तीन दिन पहले शुक्रवार को 1,46,58,709.68 करोड़ रुपए था. वहीं रविवार को एग्‍ज‍िट पोल के अनुमान के बाद सोमवार को खुले शेयर बाजार में लिवाली का ज्वार खूब चढ़ा नजर आया और सेंसेक्‍स 1,422 अंक चढ़ गया. वहीं, सोमवार को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी सूचकांक भी 421 अंक से अधिक चढ़ गया. यह निफ्टी की पिछले दस साल में एक दिन में आने वाली सबसे बड़ी वृद्धि है.

लोकसभा चुनावों के लिए सात चरणों का मतदान रविवार को होने के बाद जारी अधिकांश चुनाव सर्वेक्षणों में बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए को स्पष्ट बहुमत मिलने का अनुमान जताया गया है. एनडीए को 300 से अधिक सीटें मिलने का पूर्वानुमान इसमें लगाया गया है. हालांकि मतों की गिनती में 23 मई को वास्‍तविक स्‍थिति सामने आ पाएगी.

शेयर बाजार में जमकर लिवाली
मतदान बाद जारी सर्वेक्षणों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के फिर से सत्ता में आने के पूर्वानुमानों से उत्साहित निवेशकों ने सोमवार को शेयर बाजार में जमकर लिवाली की. इससे बंबई शेयर बाजार (बीएसई) का सेंसेक्स 1,422 अंक उछलकर 39,352.67 अंक पर पहुंच गया. वहीं, बीएसई के 30- शेयर वाले सेंसेक्स में भी सोमवार को एक दिन की पिछले छह सालों की सबसे बड़ी बढ़त दर्ज की गई.

बीएसई की कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 7.48 लाख करोड़ रुपए बढ़ा
शेयरों में जोरदार तेजी के बीच बंबई शेयर बाजार की सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) 5,33,463.04 करोड़ रुपए बढ़ गया. सोमवार को कारोबार बंद होने के समय बीएसई की सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 1,51,86,312.05 करोड़ रुपए पर पहुंच गया, शुक्रवार को 1,46,58,709.68 करोड़ रुपए था. यह लगातार तीसरा सत्र रहा, जबकि घरेलू शेयर बाजारों में तेजी रही. इन तीन दिन में बीएसई की सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 7.48 लाख करोड़ रुपए बढ़ा है.

एग्‍ज‍िट पोल का शेयर बाजार में असर, 1,422 अंक चढ़ा सेंसेक्स
मतदान बाद जारी सर्वेक्षणों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के फिर से सत्ता में आने के पूर्वानुमानों से उत्साहित निवेशकों ने सोमवार को शेयर बाजार में जमकर लिवाली की. इससे बंबई शेयर बाजार (बीएसई) का सेंसेक्स 1,422 अंक उछलकर 39,352.67 अंक पर पहुंच गया.

6 सालों की सबसे बड़ी बढ़त एक दिन में दर्ज
बीएसई के 30- शेयर वाले सेंसेक्स में भी सोमवार को एक दिन की पिछले छह सालों की सबसे बड़ी बढ़त दर्ज की गई. सेंसेक्स में आई 1,422 अंक की वृद्धि के बाद बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 5,33,463.04 करोड़ रुपये बढ़ गया.

बाजार पूंजीकरण 1,51,86,312.05 करोड़ रुपए पर
सोमवार को कारोबार की समाप्ति पर बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का कुल बाजार पूंजीकरण 1,51,86,312.05 करोड़ रुपए पर पहुंच गई. सेंसेक्स में कारोबार की शुरुआत की बड़े अंतर के साथ हुई और कारोबार की समाप्ति पर यह 1,421 अंक यानी 3.75 प्रतिशत बढ़कर 39,352.67 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह ऊंचे में 39,412.56 अंक और नीचे में 38,570.04 अंक तक आया.

निफ्टी का अब तक का रिकार्ड उच्च स्तर
एनएसई का निफ्टी 421 अंक यानी 3.69 प्रतिशत की तेजी के साथ 11,828.25 अंक पर बंद हुआ. यह इसका बंद होने के समय का अब तक का रिकार्ड उच्च स्तर है. इससे निफ्टी ने 25 जनवरी 2009 के बाद की सबसे बड़ी बढ़त दर्ज की है.

इनको हुआ फायदा
सेंसेक्स में बढ़त पाने वाले शेयरों में इंडसइंड बैंक, स्टेट बैंक, टाटा मोटर्स, यस बैंक, लार्सन एण्ड टुब्रो, एचडीएफसी, मारुति सुजूकी और ओएनजीसी के शेयरों में 8.64 प्रतिशत तक की वृद्धि दर्ज की गई. बजाज आटो और इन्फोसिस इन दो शेयरों को छोड़कर सेंसेक्स में शामिल सभी शेयर लाभ में रहे.

25 जनवरी 2009 के बाद निफ्टी में सबसे बड़ी बढ़त
एचडीएफसी सिक्युरिटीज के प्रबंध निदेशक और सीईओ धीरज रेल्ली ने कहा, भारतीय शेयर बाजारों ने उम्मीद के अनुरूप ही एक्जिट पोल के परिणामों को सराहा है. इससे निफ्टी ने 25 जनवरी 2009 के बाद की सबसे बड़ी बढ़त दर्ज की है. निफ्टी कारोबार के दौरान अपने अब तक के सबसे ऊंचे 11,856 अंक के स्तर से मामूली ही पीछे रहा. हालांकि,  कारोबार की समाप्ति पर यह अब तक के सबसे ऊंचे स्तर पर बंद हुआ है.