Indian Railways Updates: पश्चिम रेलवे (Western Railway) ने कहा है कि दशहरा और दीपावली त्योहारों (Festival Special Trains) को देखते हुए यात्रियों की सुविधाओं के लिए 12 जोड़ी विशेष रेलगाड़ियां चलाई जाएंगी, जो 156 फेरे लगाएंगी. डब्ल्यूआर ने कहा कि इन 12 जोड़ी विशेष रेलगाड़ियों में से पांच जोड़ी ब्रांदा टर्मिनस से, दो-दो जोड़ी इंदौर और उधना से वहीं एक-एक जोड़ी ओखा, पोरबंदर और गांधीधाम स्टेशनों से चलेंगी. Also Read - Indian Railway Bags on wheels Service: ट्रेन का सफर करना हुआ आसान, क्योंकि घर से स्टेशन तक लगेज पहुंचाएगी रेलवे

रेलवे की तरफ से जारी प्रेस रिलीज के अनुसार, ‘सभी रेलगाड़ियां विशेष रेलगाड़ियों के तौर पर चलाई जाएंगी और उनका विशेष किराया होगा.’ ये रेलगाड़ियां पूरी तरह से आरक्षित होंगी और इनके लिए बुकिंग 17 से 22 अक्टूबर के बीच प्रारंभ हो जाएगी.

इससे पहले रेलवे (Indian Railways) ने दशहारा, दीपावली और छठ के अवसर पर यात्रियों को उनके उनके घरों तक पहुंचाने के लिए 20 अक्टूबर से 30 नवंबर के बीच 392 त्योहार विशेष ट्रेनों के संचालन का ऐलान किया. ये ट्रेनें बिहार, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, पश्चिम बंगाल समेत अन्य जगहों के लिए चलाई जाएंगी.

क्या होगा किराया
रेलवे ने यह भी कहा कि इन रेल गाड़ियों पर विशेष ट्रेनों वाला किराया ही लागू होगा. यानी इनका किराया मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों की तुलना में 10-30 प्रतिशत तक अधिक होगा, जो यात्रा की श्रेणी पर निर्भर करेगा. अधिकारियों ने बताया कि ये त्योहार विशेष ट्रेनें 30 नवंबर तक ही चलेंगी.

उधर, RPF की तरफ से जारी दिशा निर्देश में यह जानकारी दी गई है कि यात्रा के दौरान मास्क नहीं पहनने, कोविड-19 से जुड़े प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने और जांच में संक्रमित होने की पुष्टि होने के बाद भी ट्रेन सफर करने वाले यात्रियों पर रेल अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जा सकता है, उन्हें जुर्माना भरना पड़ सकता है और यहां तक की कैद की भी सजा हो सकती है. आरपीएफ ने विशेष रूप से आगामी त्योहारी मौसम के लिये विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किये हैं.