IRFC IPO Opens Today 18 January 2021: इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन (Indian Railway Finance Corporation) का IPO पहले ही दिन 33.7 फीसदी सब्सक्राइब हो गया है. IRFC ने IPO के तहत 124.75 करोड़ शेयर जारी किए हैं, जबकि अभी तक 50.97 करोड़ शेयरों के लिए बोली लगाई जा चुकी है. बोली के पहले ही दिन रिटेल निवेशकों के लिए रिजर्व सेक्शन का 80 फीसदी हिस्सा सब्सक्राइब हो चुका है. वहीं, कर्मचारियों के लिए रिजर्व सेक्शन 2.5 गुना सब्सक्राइब हुआ है. यह आईपीओ 18 जनवरी से 20 जनवरी तक निवेश के लिए खुला रहेगा. Also Read - IRFC | IPO | Listing: शेयर बाजार में IRFC की कमजोर लिस्टिंग, 4 फीसदी डिस्काउंट के साथ 25 रुपये पर हुआ लिस्ट

बता दें, IRFC का बाजार से 4,600 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. कंपनी ने आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 25-26 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है. एक्सपर्ट भी इस आईपीओ को लेकर पॉजिटिव राय बना रहे हैं. Also Read - IRFC | Indigo Paints IPO: आईआरएफसी और इंडिगो पेंट्स के आईपीओ के अलॉटमेंट का स्टेटस हुआ जारी, ऐसे करें चेक

एंकर निवेशकों से जुटाए 1389 करोड़ रुपये (IRFC collected around Rs 1389 crores) Also Read - IRFC IPO Allotment: IRFC के शेयरों का अलॉटमेंट आज होगा पूरा, जानिए- किस तरह से चेक करें स्टेटस

आईआरएफसी ने शेयर बाजार को जानकारी दी है कि उसने शुक्रवार 15 जनवरी को एंकर इंवेस्टर्स को 26 रुपये प्रति शेयर के भाव से 53.45 करोड़ इक्विटी शेयर आवंटित किए हैं. सब्सक्रिप्शन के लिए 178 करोड़ शेयरों को रखा गया है. आईआरएफएसी के एंकर इंवेस्टर्स में Goldman Sachs, बीएनपी परिबास, कुवैत इंवेस्टमेंट अथॉरिटी और मॉनीटरी अथॉरिटी शामिल हैं. इन सभी को 53.45 करोड़ शेयर आवंटित किए गए हैं. IRFC ने 31 एंकर निवेशकों से 1389 करोड़ रुपये जुटाए हैं.

आईपीओ का प्राइस बैंड (Price band of the IRFC IPO)

आईआरएफसी के आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 10 रुपये फेस वैल्यू पर 25-26 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है. आईआरएफसी का आईपीओ 18 जनवरी को लॉन्च होगा. इसमें 20 जनवरी तक निवेश किया जा सकता है. यह आईपीओ 178.20 करोड़ शेयरों का होगा. इसमें 118.80 करोड़ नए शेयर जारी किए जाएंगे, जबकि सरकार 59.40 करोड़ रुपये की बिक्री पेशकश करेगी.

IRFC के आईपीओ में कम से कम कितना करना होगा निवेश (Minimum investment in IRFC IPO)

आईआरएफसी के आईपीओ में कम से कम 575 इक्विटी शेयरों के लिए बिड करना जरूरी होगा. यानी एक लॉट में कम से कम 575 शेयर होंगे. इसमें ज्यादा से ज्यादा 13 लॉट के लिए पैसा लगाया जा सकता है. आईआरएफसी के आईपीओ में 50 फीसदी इश्यू क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स (QIB) के लिए रिजर्व है. जबकि 15 फीसदी हिस्सा नॉन इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स के लिए. इसके बाद 35 फीसदी हिस्सा रिटेल निेवशकों के लिए रिजर्व है.

कंपनी की स्ट्रेंथ (Strength of the company)

1- इंडियल रेलवे की ग्रोथ में स्ट्रैटेजिक रोल
2- मजबूत क्रेडिट रेटिंग: CRISIL: AAA/A1+ और 3- ICRA: AAA/A1+.
4- मजबूत वित्तीय प्रदर्शन और साउंड एसेट लायबिलिटी मैनेजमेंट
अनुभवी मैनेजमेंट टीम

कंपनी की प्रोफाइल (Profile of the company)

IRFC का गठन 1986 में किया गया था. यह कंपनी भारतीय रेलवे के लिए एक डेडिकेटेड फायनेंशियल आर्म के तौर पर काम करती है. कंपनी रेलवे के लिए डोमेस्टिक और विदेशी बाजारों से फंड भी जुटाती है. यह कंपनी रेलवे के लिए एक्स्ट्रा बजेटरी खर्च का इंतजाम भी करती है. आईआरएफसी मिनिस्ट्री आफ रेलवे के ​तहत शिड्यूल ‘A’ लिस्टेड कंपनी है. यूनियन कैबिनेट ने 2017 में आईआरएफसी और रेलवे से जुड़ी 4 और कंपनियों को बाजार में लिस्ट होने की मंजूरी दी थी.