नई दिल्ली: इनकम ने बुधवार को कहा कि वह करदाताओं को 5 लाख रुपए तक लंबित कर राशि की वापसी तुरंत करेगा. इससे करीब 14 लाख करदाताओं को लाभ होगा. केंद्र सरकर ने यह कदम कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न स्थिति और कारोबारी इकाइयों को तुरंत राहत उपलब्ध कराने के लिए कदम उठाया है. Also Read - कोरोना वायरस से प्रभावित टॉप 10 देशों की सूची में पहुंचा भारत, जून के अंत तक बहुत तेजी से बढ़ेंगे मामले

केंद्र सरकार लंबित 18,000 करोड़ रुपए जीएसटी (माल एवं सेवा कर) और सीमा शुल्क वापसी भी जल्द करेगी, ताकि कारोबारी इकाइयों को राहत मिल सके. Also Read - पंजाब में कोविड-19 के 21 नए मामले सामने आये, कुल संख्या बढ़ कर 2,081 हुई

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, ”कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न स्थिति और कारोबारी इकाइयों को तुरंत राहत उपलब्ध कराने को लेकर 5 लाख रुपये तक की राशि के लंबित सभी आयकर वापसी तुंरत करने का निर्णय किया गया है। इससे करीब 14 लाख करदाताओं को लाभ होगा.” Also Read - शादी के तुरंत बाद दूल्‍हा-दुल्‍हन सीधे पहुंचे अस्‍पताल, कोरोना टेस्‍ट कराने के बाद पहुंचे घर

वित्‍त मंत्रालय ने लंबित जीएसटी और सीमा शुल्क वापसी भी करने का फैसला किया गया है. इससे सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम (एमएसएमई) समेत करीब एक लाख व्यवसायिक इकाइयों को लाभ होने की उम्मीद है. इस प्रकार, कुल रिफंड 18,000 करोड़ रुपये के करीब होगा.