नई दिल्ली: रिलायंस जियो ने भारती एयरटेल के खिलाफ दूरसंचार विभाग में शिकायत दर्ज कराई है. इसमें आरोप लगाया गया है कि एयरटेल एप्पल वॉच श्रृंखला 3 पर ईसिम सेवाओं की पेशकश कर रही है जो लाइसेंस नियमों का उल्लंघन है. जियो ने इस सेवा को तत्काल बंद करने की मांग की है. दूरसंचार विभाग को लिखे पत्र में जियो ने कहा, ‘एप्पल वॉच श्रृंखला 3 सेवा की पेशकश एयरटेल द्वारा यूनिफाइड लाइसेंस शर्तों का उल्लंघन कर की जा रही है.’ इस बारे में भारती एयरटेल को भेजे ई- मेल का तत्काल जवाब नहीं मिल पाया. रिलायंस जियो और भारती एयरटेल दोनों 11 मई से अपने बिक्री चैनलों के माध्यम से एप्पल वॉच श्रृंखला 3 की पेशकश कर रही हैं. Also Read - Jio, Airtel, Vi best 365 days validity prepaid plans: जियो, एयरटेल और वोडा-आइडिया के सबसे ज्यादा डेटा वाले रिचार्ज प्लान, जानें डीटेल

किसी ग्राहक के एप्पल वॉच और आईफोन एक ही नंबर साझा करते हैं. ग्राहक ई- सिम के जरिये आईफोन और एप्पल वॉच दोनों का इस्तेमाल कर सकते हैं और अन्य उपकरणों की कॉल की स्थिति अलग से कॉल कर सकते हैं या रिसीव कर सकते हैं. ई-सिम को आईफोन के सिम के साथ वायरलेस के जरिए संयुक्त कर दिया जाता है. ई-सिम के परिचयस्थल के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले नोड (संपर्क बिंदु) में नेटवर्क और प्रयोगकर्ता की जानकारी शामिल होती है. इसमें आपरेटर की पचाहन, सिम का विवरण, पिन, सिम की फाइलों को दूर बैठक कर नियंत्रित करने की व्यवस्था भी शामिल होती है. Also Read - Jio Airtel Vi data packs under 100 rupee: 100 रुपये से कम के धांसू रिचार्ज प्लान, दिवाली के दिन आएंगे बड़े काम

एयरटेल लाइसेंस की शर्तों का कर रहा है खुला उल्लंघन..
11 मई को लिखे इस पत्र में जियो ने आरोप लगाया है कि एयरटेल ने इस मामले में ई-सिम के प्रावधान के लिए नोड भारत के अंदर स्थापित नहीं किए हैं. कंपनी का कहना है कि एयरटेल के एप्पल वॉच श्रृंखला -3 सेवाओं के लिए इस्तेमाल किए जा रहे जरूरी सर्वर विदेश में लगाए हैं , जो लाइसेंस की शर्तों का खुला उल्लंघन है. यूनिफाइड लाइसेंस के अनुसार कोई भी दूरसंचार कंपनी अपने सर्वर देश के बाहर नहीं लगा सकती. मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली कंपनी का कहना है भारती एयरटेल को वैध तरीके से रोक या निगरानी का काम नहीं किया है. एयरटेल द्वारा सेवा शुरू करने से पहले इस तरह का महत्वपूर्ण कार्य नहीं करना राष्ट्रीय सुरक्षा हितों से समझौता है. जियो ने यह भी आरोप लगाया है कि एयरटेल ने नेटवर्क के एक महत्वपूर्ण हिस्से को देश से बाहर लगाने का कार्य जानबूझकर किया है. Also Read - Airtel YouTube Premium Subscription Offer: Airtel दे रहा फ्री YouTube Premium, जानें कैसे करें ऐक्टिवेट

(इनपुट-भाषा)