नई दिल्ली: कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच कर्नाटक में विधानसभा चुनावों के परिणाम आने के बाद जारी राजनीतिक उठापटक से निराश निवेशकों की चौतरफा बिकवाली से घरेलू शेयर बाजारों में गिरावट का दौर सोमवार को पांचवें दिन भी जारी रहा. बीएसई का तीस शेयर आधारित सेंसेक्स 232 अंक से अधिक टूटकर 34,616.13 अंक पर बंद हुआ. वहीं एनएसई का निफ्टी लगभग 80 अंक टूटकर 10,516.70 अंक पर बंद हुआ. कारोबारियों के अनुसार कर्नाटक में जारी राजनीतिक उठापटक से निवेशकों में चिंता है. राज्य में भाजपा के नेता बीएस येदियुरप्पा ने शनिवार को शक्तिपरीक्षण से ठीक पहले मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. इससे प्रदेश में जेडीएस-कांग्रेस गठजोड़ की सरकार बनने का मार्ग प्रशस्त हुआ है. Also Read - Ideal House Rent Act: केंद्र सरकार जल्द लाएगी आदर्श किराया कानून, जानिए- क्या इससे रुकेगा नई झोपड़पट्टियां बांधने का काम

पीएनबी रेटिंग का भी प्रभाव
ब्रोकरों का कहना है कि रुपये में गिरावट , कच्चे तेल की कीमतों में उछाल और विदेशी निवेशकों की निकासी से भी बाजार धारणा पर नकारात्मक असर पड़ा. क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज द्वारा पीएनबी की रेटिंग घटाए जाने से भी बाजार धारणा को झटका लगा. बीएसई का तीस शेयर आधारित सेंसेक्स सोमवार सुबह शुरुआती कारोबार में लगभग 126 अंक चढ़कर 34,973.95 अंक को छू गया. हालांकि बाद में यह चौतरफा बिकवाली से यह 34,593.82 अंक तक लुढ़का. सेंसेक्स अंतत : 232.17 अंक की गिरावट के साथ एक माह के निचले स्तर 34,616.13 अंक पर बंद हुआ. Also Read - केरल, महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली राजस्‍थान समेत देश के कई राज्‍यों में कोरोना वायरस का प्रचंड प्रकोप, पढ़ेंं डिटेल

कच्चे तेल की कीमतों का भी असर
इससे पहले 25 अप्रैल को सेंसेक्स 34,501.60 अंक के निचले स्तर पर बंद हुआ था. पांच सत्रों में सेंसेक्स 940.58 अंक पहले ही लुढ़क चुका है. एनएसई का निफ्टी भी 79.70 अंक टूटकर 10,516.70 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह 10,621.70 और 10,505.80 अंक के दायरे में रहा.जियोजित फिनांशल सर्विसेज के अनुसंधान प्रमुख विनोद नायर के अनुसार कर्नाटक में विधानसभा चुनावों के बाद जारी राजनीतिक उठा पटक , कमजोर मुद्रा , कच्चे तेल की कीमतों में उछाल का बाजार पर नकारात्मक असर पड़ा. बिकवाली दबाव से निजी क्षेत्र के यस बैंक , एचडीएफसी बैंक , कोटक महिंद्रा बैंक व एचडीएफसी बैंक के शेयर 3.27% तक टूट गए. Also Read - Coronavirus Crisis in India: देश में कोरोना की कहीं दूसरी तो कहीं तीसरी लहर का प्रकोप, यहां देखें किस राज्य में कितने मामले

इन कंपनियों के शेयर गिरे
सूचकांक आधारित शेयरों में सन फार्मा का शेयर सबसे अधिक 4.50% टूटा वहीं डा रेड्डीज के शेयर में 4.23% की गिरावट आई. इसी तरह टाटा मोटर्स , हीरो मोटोकार्प , टाटा स्टील , बजाज आटो , एचडीएफसी लिमिटेड , एचयूएल , विप्रो , एनटीपीएस , महिंद्रा एंड महिंद्रा , मारुति सुजुकी , अदाणी पोर्टस , एशियन पेंट्स , भारती एयरटेल , एलएंडटी , आरआईएल व इन्फोसिस का शेयर भी गिरावट में रहे. वहीं लिवाली समर्थन से एसबीआई , टीसीएस , कोल इंडिया , आईसीआईसीआई बैंक , ओएनजीसी व पावरग्रिड के शेयर में तेजी रही.