Kisan Credit Card: कोरोना महामारी के बीच भारत सरकार ने आत्मनिर्भर पैकेज (Atmanirbhar Bharat Yojana) की घोषणा की थी. इसके तहत सरकार ने 2.5 करोड़ किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) के तहत लोन देने की घोषणा की थी. आज हम आपको बताएंगे कि आखिर किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए किन दस्तावेजों की जरूरत होती है. साथ ही अगर आपका किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बनता है तो आपको कहां शिकायत करनी है. Also Read - PM kisan Samman Nidhi Yojana Updates: किसानों के खाते में जल्द आने वाली है 2000 रुपये की किस्त, तुरंत पैसा आने के लिए करें ये काम

पीएम किसान स्कीन की वेबसाइट पर आपको किसान क्रेडिट कार्ड का फॉर्म मिल जाएगा. यहां बैकों में जमा किए जाने वाले दस्तावेजों को लेकर साफ लिखा है कि उन्हें किसानों से केवल 3 दस्तावेज ही लेने हैं. साथ ही इन्हीं दस्तावेजों के आधार पर लोन देने की बात कही गई है. बता दें कि आपको किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड और एक फोटो चाहिए साथ ही एक शपथ आपको बैंक में जमा कराना होगा, जिसमें यह बताया गया होगा कि आपने किसी अन्य बैंक से कर्ज तो नहीं लिया. Also Read - Kisan Credit Card: कैसे बनवाएं किसान क्रेडिट कार्ड, क्या हैं इसके फायदे और कहां करें शिकायत, जानें सबकुछ

कहां बनवाएं KCC Also Read - PM Kisan Credit Card Loan: PM किसान क्रेडिट कार्ड से बिना शर्त डेढ़ लाख तक का मिल रहा है लोन, इन बैंकों में कर सकते हैं अप्लाई

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए आपके पास कई विकल्प है. आप चाहें तो को-ऑपरेटिव बैंक, नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया. क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक और इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया से अपने किसान क्रेडिट कार्ड को बनवा या बनवाने के लिए आवेदन दे सकते हैं.

इसके लिए आपको सबसे पहले पीएम किसान की अधिकारकि वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाना होगा. यहां आपको फार्मर की टैब में दाई ओर डाउनलोड किसान क्रेडिट फॉर्म का विकल्प दिखाई देगा. इसपर क्लिक करने पर फॉर्म डाउनलोड हो जाएगा और इसे भरकर नजदीकी बैंक में आपको जमा करना होगा. बता दें कि KCC कार्ड की वैलिडिटी 5 साल रखी ग है. अगर आपके क्रेडिट कार्ड की समस्या है या फिर आपके दस्तावेजों व इससे संबंधित कोई भी शिकायत हो तो आप शिकायत पोर्ट पर या UMANG ऐप पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं. इसका समाधान जल्दी ही निकाला जाएगा.

बता दें कि किसान क्रेडिट कार्ड पर किसान 3 लाख तक का लोन ले सकता है. इस लोन पर बैंक 9 फीसदी ब्याज लेगा लेकिन सरकार द्वारा किसानों को राहत के लिए इस ब्याज पर सरकार 2 फीसदी सब्सिडी देती है. किसानों को एक फायदा यह भी है कि अगर वे समय से पहले ब्याज को चुकाते हैं तो उन्हें सरकार द्वारा 3 फीसदी और सब्सिडी दी जाएगी. ऐसे में किसान को कर्ज की राशि पर केवल 4 प्रतिशत ही ब्याज चुकाना होगा.