When will Flipkart, Amazon start home delivery: गृह मंत्रालय के चौथे लॉकडाउन के लिए दिशानिर्देश जारी करने के एक दिन बाद सभी की नजरें अब ईकॉमर्स कंपनियों पर हैं जिन्हें अब हर जोन में गैर जरूरी सामानों को डिलीवर करन की इजाजत मिल गई है. हालांकि वालमार्ट के स्वामित्व वाले फ्लिपकार्ट ने सोमवार को कहा कि वह अपनी सेवाएं पूरी तरह शुरू करने के लिए राज्यों के दिशानिर्देशों का इंतजार कर रही है. Also Read - यूपी: श्रमिक ट्रेनों में भी मौत के मुंह में समा रहे मजदूर, एक ही दिन में तीन ट्रेनों में 6 की मौत

केंद्रीय गृह मंत्रालय के आदेश के अनुसार चौथे लॉकडाउन के दौरान ‘‘जिन सेवाओं को निषिद्ध किया गया है, उन्हें छोड़कर अन्य सभी गतिविधियों की अनुमति दी जाएगी.’’ हालांकि कटेंटमेंट जोन में सिर्फ मूलभूत सेवाओं की इजाजत ही दी जाएगी. आदेश में कहा गया है कि राज्य और केंद्र शासित प्रदेश अपनी स्थिति के आकलन के आधार पर कुछ अन्य गतिविधियों पर रोक लगा सकते हैं या आवश्यक प्रतिबंधों को लागू कर सकते हैं. Also Read - बीसीसीआई को भरोसा, भारत से टी20 विश्व कप की मेजबानी छीनकर 'आत्महत्या' नहीं करेगी ICC

फ्लिपकार्ट समूह के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘भारत सरकार के कल शाम को आए दिशानिर्देशों के बाद हम विभिन्न राज्यों के दिशानिर्देशों का इंतजार कर रहे हैं. हम सरकार और स्थानीय प्राधिकरण के निर्देशों के अनुसार काम जारी रखेंगे.’’ प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी भारत में लाखों छोटे-मझोले उद्योगों और विक्रेताओं के साथ काम कर रही है और अपनी सेवाओं और आपूर्ति श्रृंखला तथा वितरण कर्मचारियों के लिए सुरक्षा और स्वास्थ्य प्रक्रियाओं का पालन कर रही है. Also Read - लॉकडॉउन में दिल्‍ली के एक किसान की दरियादिली, प्‍लेन से 10 प्रवासी श्रमिकों को भेज रहा बिहार

उन्होंने कहा कि कंपनी लॉकडाउन से बाहर निकलने के लिए केंद्र और राज्यों सरकारों के प्रयासों और कटेंटमेंट जोन को छोड़कर अन्य सभी अधिसूचित क्षेत्रों में ई-कॉमर्स की इजाजत देने का स्वागत करती है. अमेजन इंडिया के एक प्रवक्ता ने कहा कि ताजा फैसले से उसके मंच पर उपलब्ध छह लाख खुदरा विक्रेताओं और छोटे-मझोले उद्योगों को फायदा होगा. पेटीएम मॉल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्रीनिवास मोटहे ने कहा कि व्यक्तिगत सौंदर्य उत्पादों की उत्पादों की मांग अगले कुछ हफ्तों में और बढ़ने की उम्मीद है.

(इनपुट भाषा)