LIC IPO: देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (Life Insurance Corporation) का आईपीओ नए वित्त वर्ष की दूसरी छमाही यानी अक्टूबर के बाद आने की संभावना है. इसकी जानकारी निवेश एवं सार्वजनिक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव तुहिन कांत पांडेय ने दी. Also Read - विजयवाड़ा हवाई अड्डे पर बिजली के खंभे से टकराया Air India Express का विमान, बाल-बाल बचे 64 यात्री

एयर इंडिया (Air India) और भारत पेट्रोलियम (Bharat Petroleum) बिक्री भी अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही में होगी. सरकार ने कोरोना वायरस की महामारी से प्रभावित अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने और ग्रोथ को पटरी पर लाने के लिए अगले वित्त वर्ष में विनिवेश के जरिए 1.75 लाख करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है. Also Read - एयर इंडिया के स्टाफ ने Manu Bhaker से की 'बदतमीजी', कार्रवाई की मांग

सरकार अगले वित्त वर्ष में शिपिंग कॉर्प ऑफ इंडिया (SCI), आईडीबीआई बैंक (IDBI Bank) और दो अन्य सार्वजनिक बैंक को भी बेचना चाहती है. Also Read - Air India Recruitment 2021: एयर इंडिया में इन विभिन्न पदों पर आवेदन करने की आज है आखिरी तारीख, जल्द करें अप्लाई

पांडे ने कहा कि सरकार ने वित्त विधेयक के जरिए एलआईसी और आईडीबीआई बैंक में हिस्सेदारी के विनिवेश के लिए आवश्यक विधायी संशोधन पेश किए हैं.

बता दें, भारत सरकार ने अर्थव्यवस्था को मुश्किलों से बाहर निकालने के लिए अगले वित्त वर्ष में रिकॉर्ड पूंजीगत खर्च का लक्ष्य रखा है. सरकार को भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन और एयर इंडिया के लिये संभावित खरीददारों से रुचिपत्र (Expression of Interest) प्राप्त हो चुके हैं.

पांडे ने कहा, “एलआईसी संशोधन अधिनियम और आईडीबीआई बैंक में संशोधन अधिनियम को वित्त विधेयक-2021 में शामिल किया है. इसके लिए अलग से विधेयक नहीं आयेगा. एलआईसी का आईपीओ अक्टूबर के बाद आयेगा.”

यहां पर यह बता दें कि दीपम सरकार के स्वामित्व वाली कंपनियों में सरकार की हिस्सेदारी का प्रबंधन करता है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में कहा था कि भारत पेट्रोलियम (Bharat Petroleum), एयर इंडिया (Air India), शिपिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (Shipping Corporation of India), कंटेनर कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (Container of India Ltd), आईडीबीआई बैंक (IDBI Bank), बीईएमएल (BEML), पवन हंस (Pawan Hans), नीलांचल इस्पात निगम लिमिटेड के रणनीतिक विनिवेश के साथ अगले वित्त वर्ष में एलआईसी का आईपीओ आएगा.

एयर इंडिया, भारत पेट्रोलियम, पवन हंस, बीईएमएल, शिपिंग कॉर्प (SCI), नीलांचल इस्पात निगम और फेरो स्क्रैप निगम (FSNL) के निजीकरण की प्रक्रिया भी शुरू की गई है. भारत पेट्रोलियम और एयर इंडिया के बिक्री पर पांडे ने कहा कि हम सही दिशा में जा रहे हैं और उस पर काम जारी है.

(With agency inputs)