भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) ने सीनियर सिटिजन के लिए प्रधानमंत्री वय वंदना योजना लॉन्च कर दी है. पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने इस योजना की अवधि मार्च 2023 तक बढ़ा दी थी. वैसे सरकार ने इस पर प्रतिफल की दर घटाकर 7.4 फीसदी कर दी है. पिछले वित्त वर्ष में ब्याज दर 8 प्रतिशत थी. फिर भी यह ब्याज देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई में सीनियर सिटिजन को फिक्स्ड डिपॉजिट पर मिलने वाली ब्याज दर से करीब एक फीसदी अधिक है. एसबीआई सीनियर सिटिजन के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट पर 6.5 फीसदी ब्याज देता है.Also Read - LIC Jeevan Pragati Policy: LIC की इस पॉलिसी में हर रोज करें 200 रुपये का निवेश, मैच्योरिटी पर मिलेंगे 28 लाख, जानें- कैसे?

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले सप्ताह इस योजना की मियाद बढ़ा दी थी. भारतीय जीवन बीमा निगम Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana का अधिकृत संचालक है. इस योजना में अधिकतम 15 लाख रुपये निवेश किए जा सकते हैं. योजना में निवेश की न्यूनतम उम्र 60 साल है. इसके लिए अधिकतम उम्र तय नहीं है. Also Read - BPCL Sale: पहली छमाही में BPCL विनिवेश करने की संभावना कम, अंतिम तिमाही में आएगा LIC का IPO: दीपम सचिव

क्या है Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (संशोधित-2020) भारत सरकार की एक गैर-लिंक्ड, गैर भागीदारी पेंशन योजना है. एलआईसी द्वारा संचालित इस योजना में आज यानी 26 मई से निवेश किया जा सकता है. फिलहाल इसे तीन साल के लिए शुरू किया गया है. इसमें 31 मार्च 2023 तक निवेश किया जा सकता है. Also Read - LIC ने सभी पॉलिसीधारकों के लिए जारी की महत्वपूर्ण जानकारी, जल्दी करें चेक

वय वंदन योजना को एलआईसी की आधिकारिक वेबसाइट www.licindia.in से भी खरीदा जा सकता है. यह योजना 10 साल के लिए है. योजना के शुरुआती साल में 7.66 फीसदी ब्याज मिलता है. इसके बाद हर साल भारत सरकार इसपर एक अप्रैल को ब्याज दर तय करती है.

इस योजना में मासिक पेंशन का विकल्प चुनने पर वरिष्ठ नागरिकों को 10 साल तक एक तय दर से गारंटीशुदा पेंशन मिलती है.

योजना में निवेश के 10 साल पर गारंटीशुदा पेंशन के साथ जमा राशि भी लौटा दी जाती है.

वरिष्ठ नागरिक मासिक, तिमाही, छमाही या फिर सालाना आधार पर पेंशन ले सकते हैं.