LIC Single Premium Policy: यह पॉलिसी 90 दिन की उम्र से लेकर 65 साल की उम्र तक के व्यक्ति को दी जा सकती है. यह पॉलिसी 10 साल से 25 साल की पॉलिसी अवधि के लिए ली जा सकती है. इसमें पॉलिसी मैच्योरिटी की अधिकतम उम्र 75 साल है. जीवन बीमा निगम (LIC) की इस पॉलिसी का नाम सिंगल प्रीमियम एंडोमेंट प्लान है. इस पॉलिसी में प्रीमियम का एक बार भुगतान करना होता है और मैच्योरिटी पर कई गुना तक लाभ मिलता है. इसलिए पॉलिसी की तुलना फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) से की गई है. FD में आप एकमुश्त राशि जमा करते हैं, जिस पर आपको मैच्योरिटी के बाद बड़ी राशि मिलती है. यही बात एलआईसी के इस सिंगल प्रीमियम एंडोमेंट प्लान के साथ है.Also Read - SSY Vs LIC Kanyadan Policy: इनमें से किस पॉलिसी में कम प्रीमियम पर मिलेगा ज्यादा रिटर्न, समझें विस्तार से

यह नीति उन्हीं तीन प्रकार के लोगों को लेनी चाहिए जिनका उल्लेख किया जा रहा है. पहला वो लोग जिनकी आमदनी में उतार-चढ़ाव बना रहता है या जिन्हें किसी खास मौके पर मोटी रकम मिलती है. ऐसे लोग चाहें तो इस सिंगल प्रीमियम पॉलिसी में 25 हजार से 2-5 लाख तक लगा सकते हैं. अन्य वे लोग हैं जिनकी नियमित आय है लेकिन वे बार-बार प्रीमियम का भुगतान करने के झंझट से मुक्त होना चाहते हैं. ऐसे लोगों के हाथ में अगर कोई बड़ी रकम आ जाती है या कोई निवेश योजना पूरी हो जाती है तो वे सिंगल प्रीमियम प्लान में पैसा जमा करते हैं. तीसरा, जिन लोगों को बड़ी मात्रा में विरासत मिली है, वे भी इस पॉलिसी में पैसा जमा कर सकते हैं.अगर आप इन तीन तरह के लोगों में से एक हैं तो सिंगल प्रीमियम एंडोमेंट प्लान ट्राई कर सकते हैं. Also Read - LIC Micro Insurance Policy: क्या है एलआईसी की सूक्ष्म बीमा पॉलिसी, यहां जानें हर महत्वपूर्ण बातें

कौन ले सकता है पॉलिसी Also Read - LIC Jeevan Labh Policy: LIC के इस प्लान में रोजाना 233 रुपये निवेश करें, मैच्योरिटी के वक्त पाएं 17 लाख से ज्यादा

यह पॉलिसी 90 दिन की उम्र से लेकर 65 साल की उम्र तक के व्यक्ति को दी जा सकती है. यह पॉलिसी 10 साल से 25 साल की पॉलिसी अवधि के लिए ली जा सकती है. इसमें पॉलिसी मैच्योरिटी की अधिकतम उम्र 75 साल है. यानी पॉलिसी इस तरह ली जाएगी कि मैच्योरिटी की उम्र 75 साल से ज्यादा न हो. न्यूनतम बीमा राशि 50,000 रुपये है और अधिकतम सीमा नहीं है. यदि आप किसी बच्चे के लिए पॉलिसी लेते हैं, तो कवरेज तब शुरू होगी जब वह 8 वर्ष या उससे अधिक का होगा. अगर बच्चे की उम्र 8 साल से कम है तो कवरेज पॉलिसी लेने के 2 साल बाद या बच्चे के 8 साल की उम्र तक पहुंचने के बाद शुरू होगी.

आसान भाषा में समझें

आइए इस नीति को एक उदाहरण से समझते हैं. सौरभ जिसकी उम्र 30 वर्ष है, वह 25 वर्ष की अवधि के लिए यह पॉलिसी लेता है. अगर सौरभ 2 लाख की सम एश्योर्ड की पॉलिसी लेते हैं तो उनका सिंगल प्रीमियम जीएसटी के साथ 93,193 रुपये होगा. जब पॉलिसी के 25 साल पूरे हो जाएंगे तो रोहित को कुछ इस तरह मैच्योरिटी मिलेगी. उन्हें बीमा राशि के रूप में 2,00,000 रुपये, बोनस के रूप में 2,55,000 रुपये और अंतिम अतिरिक्त बोनस के रूप में 90,000 रुपये मिलते हैं. इस तरह कुल राशि 5,45,000 रुपये हो जाएगी. यहां देखा जा सकता है कि सौरभ ने सिंगल प्रीमियम के तौर पर 93,193 रुपए जमा किए और मैच्योरिटी पर उन्हें करीब 5.5 लाख रुपए मिलेंगे. प्रतिवर्ष 4 हजार से कम की बचत करने पर लाभ होता है.

मृत्यु होने पर क्या मिलता है लाभ?

यदि दुर्भाग्य से रोहित पॉलिसी अवधि के दौरान दुनिया छोड़ देता है तो उसके नामांकित व्यक्ति को मृत्यु लाभ का लाभ मिलेगा. इसके तहत नॉमिनी को सम एश्योर्ड का 2,00,000 रुपये मिलेगा. इसके बाद आपको बोनस मनी मिलेगी. बोनस की राशि पॉलिसी चलने वाले वर्षों की संख्या पर निर्भर करेगी. यदि पॉलिसी अधिक चली है, तो सम एश्योर्ड में अधिक बोनस जोड़ा जाएगा. उदाहरण के लिए, यदि रोहित का पॉलिसी के 16वें वर्ष में निधन हो जाता है, तो उसके नामांकित व्यक्ति को बीमा राशि के रूप में 2,00,000 रुपये, बोनस के रूप में 1,38,000 रुपये और अंतिम अतिरिक्त बोनस के रूप में 5000 रुपये मिलेंगे.इस तरह रोहित के नॉमिनी को टोटल अमाउंट के तौर पर 3,43,000 रुपये मिलेंगे.