Lockdown Extended: कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए देश में 50 से अधिक दिनों से जारी लॉकडाउन के बाद सोमवार से निरूद्ध क्षेत्रों (कंटेनमेंट जोन) को छोड़कर सभी दुकानें और बाजार खुलेंगे. गैर निरूद्ध क्षेत्रों (नॉन कंटेनमेंट जोन) में नाई की दुकानें, सैलून और स्पा भी खुलेंगे और ई-कॉमर्स कंपनियां गैर जरूरी सामानों की आपूर्ति भी करेंगी. Also Read - दर्शन के लिए जल्द खुलेगा माता वैष्णोदेवी का मंदिर, श्राइन बोर्ड कर रहा है ये तैयारी 

लॉकडाउन-4 में में ई-कॉमर्स को और ज्यादा राहत दी गई है. दिल्लीवालों के लिए अच्छी खबर यह है कि रेड जोन में होने के बावजूद अब अमेजन, फ्लिपकार्ट से मोबाइल फोन, टीवी, फ्रिज और एसी जैसे सामान ऑर्डर कर सकते हैं. बता दें कि लॉकडाउन-3 में मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक्स की बिक्री पर तीनों जोन में पाबंदी थी. Also Read - गृह मंत्रालय ने पलटा अपना ही फैसला, CAPF कैंटीनों में सिर्फ स्वदेशी सामान मिलने के आदेश पर लगाई रोक

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने रविवार को लॉकडाउन की विस्तारित अवधि के लिए दिशानिर्देश जारी करते हुए घोषणा की कि सोमवार से लॉकडाउन 4.0 के दौरान निरूद्ध क्षेत्रों को छोड़कर सभी दुकानें अलग-अलग समय पर खुलेंगी. गृह मंत्रालय ने कहा कि स्थानीय अधिकारियों को सुनिश्चित करना चाहिए कि निरुद्ध क्षेत्रों को छोड़कर दुकानें, बाजार अलग-अलग समय पर खुलें और साथ ही सामाजिक दूरी के नियमों का पालन सुनिश्चित कराया जाए. Also Read - पंजाब: मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया, कहा- केंद्र के दिशा निर्देशों पर करेंगे अमल

सभी दुकानों को ग्राहकों के बीच छह फुट (दो गज) की दूरी सुनिश्चित करनी होगी और एक बार में पांच से अधिक ग्राहकों को दुकान के अंदर जाने की अनुमति नहीं होगी. इसने कहा कि होटल, रेस्तरां, सिनेमा हॉल, मॉल, तरणताल, जिम बंद रहेंगे और 31 मई तक सभी सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक कार्यक्रम और पूजास्थल भी बंद रहेंगे.

लॉकडाउन की शुरुआत के समय से ही आवश्यक पदार्थों की दुकानों को खुलने की अनुमति थी जबकि चार मई से पड़ोस की दुकानों, मोहल्ले की अकेली गैर जरूरी सामानों की दुकानों को खुलने की अनुमति दी गई थी. ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा आवश्यक सामान की आपूर्ति की पहले भी अनुमति थी. कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 24 मार्च को पहले लॉकडाउन की 21 दिनों के लिए घोषणा की थी. पहले इसे तीन मई तक और फिर 17 मई तक विस्तारित किया गया था.

(इनपुट भाषा)