How to Apply for Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana : लॉकडाउन के कारण बेरोजगार हुए लोगों को अब घबराने की जरूरत नहीं है. अगर कोरोना वायरस संकट के चलते आप अपनी नौकरी खो बैठे हैं तो अब से नौकरी छूट जाने पर केंद्र सरकार आपको 2 साल यानी 24 महीने तक पैसे देगी. दरअसल कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) ने ‘अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना’ (Atal Bimit Vyakti Kalyan Yojana) के तहत नौकरी जाने पर फाइनेंशियल मदद देने की घोषषा की है. Also Read - WATCH: कड़कती बिजली के बीच धोनी ने निकाली बाइक, बेटी जीवा को कराई सैर

खुद ईएसआईसी (ESIC) ने इस बारे में ट्वीट कर जानकारी दी. उन्होंने ट्वीट कर लिखा- “रोजगार छूटने का मतलब आय की हानि नहीं है, ईएसआईसी रोजगार की अनैच्छिक हानि या गैर – रोजगार चोट के कारण स्थायी अशक्तता के मामले में 24 माह की अवधि के लिए मासिक नकद राशि का भुगतान करता है.” अर्थात अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना’ के तहत आपकी नौकरी जाने पर सरकार आपको आर्थिक मदद देती है. Also Read - Cinema Halls Will Reopen: इसी माह खुल जाएंगे सिनेमा घर! जानिए सरकार क्या कर रही प्लानिंग

लाभ कैसे उठाएं?
कोरोना संकट के समय में कई नौकरियों पर संकट मंडरा रहा है. ऐसे में अगर आपकी नौकरी चला जाती है तो आपको इस योजना का लाभ लेना चाहिए. हालांकि इसके लिए आपको ESIC की अटल बीमित व्‍यक्ति कल्‍याण योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कराना होगा. आप ESIC की बेवसाइट पर जाकर अटल बीमित व्‍यक्ति कल्‍याण योजना का फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं. फॉर्म डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें  Also Read - डोनाल्ड ट्रंप ने की पीएम नरेंद्र मोदी से बात, कहा- अगले हफ्ते तक भारत भेजेंगे 100 वेंटिलेटर्स

फॉर्म डाउनलोड करने के बाद क्या करना होगा?

  • इस फॉर्म को भरकर आपको ईएसआईसी के किसी नजदीकी ब्रांच में जमा करवाना होगा.
  • फॉर्म के साथ 20 रुपए का नॉन-ज्‍यूडिशियल स्टांप पेपर पर नोटरी से एफिडेविड भी देना है.
  • इसमें AB-1 से लेकर AB-4 फॉर्म जमा करवाया जाएगा.
  • अटल बीमित व्‍यक्ति कल्‍याण योजना में आवेदन करने के लिए मोदी सरकार जल्द ही ऑनलाइन सुविधा भी शुरू करने वाली है.
  • ज्‍यादा जानकारी के लिए आप ESIC की आधिकारिक वेबसाइट (www.esic.nic.in) पर विजिट कर सकते हैं. इसके अलावा फॉर्म को डाउनलोड करने के लिए दिए गए लिंग में सबसे पहले ‘अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना’ को लेकर नियम व शर्तें लिखी हुई हैं.

इस योजना का फायदा एक व्यक्ति सिर्फ एक बार ही उठा सकता है.