LPG Gas Cylinder: केंद्र सरकार (Central Government) महिलाओं को राहत देने के लिए एलपीजी सिलेंडर (LPG Cylinder) का वजन कम करने की योजना तैयार कर रहा है. घरेलू रसोई गैस (LPG Gas Cylinder) सिलेंडरों का वजन 14.2 किलोग्राम होने से यह काफी भारी हो जाता है, जिससे महिलाओं को उठाने में काफी तकलीफ होती है. इस बात को ध्यान में रकते हुए सरकार इसके वजन को कम करने समेत कई अन्य विकल्पों पर विचार कर रही है.Also Read - LPG Cylinder Booking: ऐसे बुक करें रसोई गैस सिलिंडर, 50 रुपये मिलेगा सस्ता

पेट्रोलियम मंत्री ने राज्यसभा में दी जानकारी Also Read - LPG cylinder price: नए साल के पहले दिन खुशखबरी, 102 रुपये सस्ता हुआ सिलेंडर

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने राज्यसभा में इस बात की जानकारी दी है. इससे पहले संसद के एक सदस्य ने सिलेंडर के भारी होने से महिलाओं को होने वाली परेशानी का जिक्र किया था. हरदीप सिंह पुरी ने उस सवाल का जवाब देते हुए बताया कि हम नहीं चाहते कि महिलाओं और बेटियों को सिलेंडर का भारी वजन उठाना पड़े, जिसके लिए हम सिलेंडर के वजन में कमी लाने पर विचार कर रहे हैं. Also Read - LPG Cylinder Booking: इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के मोबाइल बैंकिंग ऐप से बुक करें LPG सिलेंडर, जानें- क्या है प्रक्रिया?

पीएम उज्ज्वला योजना के तहत अब तक 8.8 करोड़ कनेक्शन जारी

पेट्रोलियम मंत्री ने बताया कि हम एक रास्ता निकालेंगे, चाहे वह 14.2 किलोग्राम वजन को कम कर पांच किलोग्राम का बनाना हो या कोई और तरीका… हम ऐसा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. इसके अलावा पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सदन को बताया कि तेल विपणन कंपनियों ने देश भर में उज्ज्वला 2.0 और प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) के तहत 8.8 करोड़ एलपीजी कनेक्शन जारी किए हैं.

2016 में शुरु की गई थी पीएम उज्ज्वला योजना

पुरी ने सदन में अपनी बात रकते हुए योजना के आरंभ होने के बारे में भी बात की. उन्होंने कहा कि देश भर में गरीब परिवारों की वयस्क महिला सदस्यों के नाम पर आठ करोड़, बिना जमानत के एलपीजी कनेक्शन जारी करने के लिए एक मई 2016 को पीएमयूवाई योजना आरंभ की गयी थी और इस योजना के लक्ष्य को सितंबर, 2019 में हासिल कर लिया गया.

10 अगस्त को शुरु हुई पीएम उज्ज्वला योजना 2.0

पुरी ने बताया कि इसके अलावा बिना जमानत के एक करोड़ एलपीजी कनेक्शन जारी करने के लिए इसी साल 10 अगस्त को उज्ज्वला 2.0 की शुरुआत की गई. उन्होंने कहा कि तेल विपणन कंपनियों ने उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में पीएमयूवाई के तहत कुल मिलाकर 1.64 लाख एलपीजी कनेक्शन दिए हैं और एलपीजी कनेक्शन जारी करना एक सतत प्रक्रिया है और एलपीजी वितरकों को नए एलपीजी कनेक्शन के लिए किसी भी अनुरोध को तुरंत दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं.

(With PTI Inputs)