LPG Gas Connection: अगर आप एलपीजी कनेक्शन लेना चाहते हैं तो बिना एड्रेस प्रूफ के भी मिलेगा. लेकिन आपको कंपनी के 5 किलो एलपीजी सिलिंडर का कनेक्शन मिलेगा. इसे छोटू गैस सिलिंडर कहा जाता है. यह सुविधा आपको इंडियन ऑयल की इंडेन एलपीजी देगी. यह 5 किलो का एफटीएल (Free trade LPG) सिलिंडर है. यह शहरी और अर्ध-शहरी क्षेत्रों में प्रवासी आबादी के लिए है जिनके पास स्थानीय पते का प्रमाण नहीं है, गैस की लागत कम है.Also Read - LPG की कीमत घटी, 25.50 रुपये सस्ता हुआ गैस सिलेंडर, सिर्फ इनको मिलेगा फायदा

एलपीजी सिलिंडर कहां से लाएं Also Read - पेट्रोलियम कंपनियों को अब पेट्रोल-एलपीजी पर घाटा नहीं, डीजल पर नुकसान बरकरार

आप छोटू गैस सिलिंडर इंडेन के डिस्ट्रीब्यूटरशिप के नेटवर्क या इंडियन ऑयल रिटेल आउटलेट्स पर पा सकते हैं, स्थानीय सुपरमार्केट का चयन करें, किराना स्टोर चुनें. इस सिलिंडर के लिए आपको बस पहचान पत्र देना होगा और कीमत चुकानी होगी. इसे रिफिल भी किया जा सकता है और आप देश भर के किसी भी सेल्स सेंटर या डिस्ट्रीब्यूटरशिप पर जाकर ऐसा कर सकते हैं. Also Read - इंडियन ऑयल ने शुरू की तत्काल सेवा, देशभर में लागू हुए LPG सिलेंडर के नए रेट, जानें- कहां पर उपलब्ध होगी तत्काल सर्विस

आप मिस्ड कॉल और व्हाट्सएप के माध्यम से कर सकते हैं बुकिंग 

छोटू गैस सिलिंडर को आप मिस्ड कॉल और व्हाट्सएप के जरिए भी बुक कर सकते हैं. कंपनी ने मिस्ड कॉल के लिए स्पेशल नंबर 8454955555 जारी किया है. व्हाट्सएप के जरिए सिलिंडर बुकिंग के लिए व्हाट्सएप मैसेज में ‘रिफिल’ टाइप करें और इसे 7588888824 नंबर पर भेजें. आप 7718955555 पर कॉल करके भी सिलिंडर बुक कर सकते हैं.

होम डिलीवरी की सुविधा उपलब्ध

इस सिलिंडर की रिफिल की होम डिलीवरी भी पॉइंट ऑफ सेल्स से मिलेगी. इसके लिए आपको 25 रुपये प्रति रिफिल का अतिरिक्त डिलीवरी चार्ज देना होगा. ग्राहकों के पास बिक्री के स्थान से सिलिंडर खरीदने पर 500 रुपये प्रति सिलिंडर की निश्चित राशि के साथ बायबैक का विकल्प भी है. इस दौरान सिलिंडर के उपयोग की अवधि को ध्यान में नहीं रखा जाएगा.

वापसी की सुविधा भी उपलब्ध

यदि आप उस शहर से जा रहे हैं जिसमें आप रहते हैं या किसी अन्य कारण से सिलिंडर वापस करना चाहते हैं, तो आप इसे उसी बिक्री बिंदु पर वापस कर सकते हैं. अगर यह सिलिंडर 5 साल पूरे होने से पहले वापस कर दिया जाता है तो सिलिंडर की कीमत का 50 फीसदी वापस कर दिया जाएगा. अगर आप इसे 5 साल पूरे होने के बाद वापस करते हैं तो रिटर्न वैल्यू घटकर सिर्फ 100 रुपये रह जाएगी.