LPG Gas Subsidy: पिछले कुछ महीनों से अगर आपके बैंक खाते में रसोई गैस की सब्सिडी का पैसा जमा नहीं हो रहा है तो आपको चौंकने की जरूरत नहीं है. दरअसल, कोरोना काल में पिछले कुछ महीनों से रसोई गैस पर सब्सिडी की जरूरत खत्म हो गई है. वैसे हो सकता है कि कोरोना काल में आपने बैंक खाते पर ध्यान न दिया हो, इस कारण आपको पता न हो कि रसोई गैस पर मिलने वाली सब्सिडी पिछले कुछ महीनों से खाते में जमा नहीं हो रही है. वैसे इसमें चौंकने जैसी कोई बात नहीं है.Also Read - LPG Cylinder: LPG उपभोक्ताओं को अब और राहत देने की तैयारी में केंद्र सरकार, जानें- क्या है केंद्र की तैयारी और कैसे होगा आपको फायदा?

दरअसल, इस वित्तीय वर्ष की शुरुआत में दुनिया में कोरोना के चरण पर पहुंचने के साथ ही अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में भारी गिरावट आई है. अब भी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव नरम ही बना हुआ है. इससे भारत सहित दुनिया में तेल का आयात करने वाले देशों को खूब फायदा हुआ. कच्चे तेल के भाव में गिरावट का असर पेट्रोल, डीजल, केरोसीन के साथ-साथ रसोई गैस की कीमत पर भा पड़ा है. Also Read - Rules to change from 1st July: 1 जुलाई से बदल जाएंगे ये नियम, जानिए- क्या होगा आम आदमी के जीवन पर असर?

भारत सरकार देश के नागरिकों को साल में 14.2 किलो के 12 सिलेंडर रियायती दर पर मुहैया करवाती है. यानी ग्राहक इन सिलेंडरों को बाजार भाव पर खरीदते हैं और उस पर मिलने वाली रियायत यानी सब्सिडी का पैसा उनके खाते में आ जाता है. सरकार ये पैसा सीधे खाते में डालती है. इस तरह उनके लिए ये सिलेंडर सस्ता पड़ता है. Also Read - LPG Gas Subsidy: क्या आपके खाते में आया गैस सब्सिडी का पैसा, घर बैठे ऐसे पता लगाएं

लेकिन पिछले करीब 5 महीने से तमाम ग्राहकों के खाते में सब्सिडी का यह पैसा नहीं आ रहा है. ऐसे में ग्राहकों का परेशान होना लाजिमी है. लेकिन इसमें परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है. दरअसल, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत कम होने की वजह से घरेलू बाजार में भी एलपीजी सिलेंडर का रेट कम हो गया है. इस कारण गैर सब्सिडी और सब्सिडी वाले सिलेंडर के दाम करीब-करीब बराबर हो गए हैं. इस समय दिल्ली में एक 14.2 किलो के एलपीजी सिलेंडर का दाम 594 रुपये है.

सब्सिडी वाले सिलेंडर के दाम बढ़े
अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम कम होने के साथ ही केंद्र सरकार घरेलू मोर्चे पर धीरे-धीरे सब्सिडी वाले रसोई गैस के दाम बढ़ाती रही है. पिछले साल जुलाई महीने में सब्सिडी वाले एक सिलेंडर का दाम जहां 495 रुपये के आसपास था वहीं इस साल इसका दाम करीब 595 रुपये है. यानी सरकार ने सब्सिडी वाले सिलेंडर के दाम में एक साल के भीतर करीब 100 रुपये की बढोतरी कर दी है. इससे मौजूदा समय में सब्सिडी और गैर सब्सिडी वाले सिलेंडर के भाव में कोई अंतर नहीं रह गया है. दोनों के दाम करीब 600 रुपये है. ऐसे में सब्सिडी का पैसा खाते में डालने की जरूरत अपने आप खत्म हो गई है.