लखनऊ नगर निगम (एलएमसी) ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) पर अपना बॉन्ड लिस्ट कराया है. यह बीएसई पर लिस्ट होने वाला उत्तर भारत के किसी नगर निगम का पहला बॉन्ड है. एलएमसी ने बॉन्ड के जरिए 200 करोड़ रुपये जुटाए हैं. Also Read - भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा पहुंचे लखनऊ, सीएम ने एयरपोर्ट पर किया स्वागत, कैबिनेट विस्तार पर बन सकती है रणनीति

इन बॉन्ड की अवधि 10 साल की है. इस पर सालाना 8.5 फीसदी ब्याज मिलेगा. इन बॉन्ड से होने वाली आय का इस्तेमाल लखनऊ में इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स के लिए किया जाएगा. 13 नवंबर को खुले इस इश्यू को 4.5 गुना सब्सक्रिप्शन मिला था. Also Read - भाजपा में शामिल होने के 24 घंटे के अंदर ही पूर्व IAS अरविंद शर्मा यूपी विधान परिषद के लिए नामित

लिस्टिंग के मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह प्रदेश के लिए गर्व की बात है कि लखनऊ नगर निगम ने बॉन्ड के जरिए 200 करोड़ रुपये जुटाए हैं. ये बॉन्ड आज बीएसई पर लिस्ट हो गए हैं. बीते साढ़े तीन साल में राज्य सरकार ने निवेशकों का भरोसा जीता है. Also Read - पूर्व IAS अरविंद कुमार शर्मा भाजपा में हुए शामिल, दो दिन पहले लिया था VRS, हो सकते हैं यूपी के तीसरे डिप्टी सीएम

लखनऊ देश के उन आठ शहरों में शामिल है, जो नए दिशानिर्देशों के तहत अमृत और स्मार्ट सिटी मिशन की फंडिंग का इस्तेमाल करेंगे.

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, ये शहर 3,690 करोड़ रुपये जुटा सकते हैं. इंडिया और ब्रिकवर्क रेटिंग्स ने इन बॉन्ड को डबल ए स्टेबल और डबल ए (सीई) स्टेबल की रेटिंग दी है. इनकी 10 साल की मैच्योरिटी और मूल राशि चौथे से दसवें साल के भीतर सात किस्तों में चुकाई जाएगी.