Merger of EPF Accounts: आज के समय में नौकरी बदलना पहली की अपेक्षा काफी आसान हो चुका है. ऐसी स्थिति में नई जगह जाने पर कई बार नियोक्ता द्वारा नए UAN नंबर यानी ePF अकाउंट बना दिए जाते हैं. ऐसे में कई भविष्य निधि खाते को संभालना थोड़ा चुनौतीपूर्ण हो जाता है. ऐसे में अगर 36 महीने तक खाते में किसी तरह की ट्रांजैक्शन नहीं हुई तो खाते को निष्क्रिय कर दिया जाता है. हालांकि अब जिसके पास कई खाते हैं उसके लिए एक समाधान आ चुका है. अब आप अपने सभी epf अकाउंट का Merge एक में कर सकेंगे. बता दें कि UAN 12 अंकों की ईपीएफओ खाता संख्या होती है. Also Read - EPFO Insurance Cover: ईपीएफ खाताधारकों की बढ़ाई गई इंश्योरेंस राशि, अब 7 लाख तक का मिलेगा बीमा कवर

पुराने epf अकाउंट का कैसे करें Merge Also Read - EPFO Insurance Cover: ईपीएफ खाताधारकों के लिए खुशखबरी, मिलेगा 7 लाख तक का बीमा कवर

इसके लिए सबसे पहले आपको epfo के पोर्टल पर लॉगइन करना होगा. इसके बाद आपको One Member – One EPF Account (Transfer Request) टैब पर क्लिक करना होगा. इसके बाद आपकी पर्सनल जानकारी को वेरिफाई करने के लिए नया पेज खुलेगा. यहां मांगी गई जानकारियां भर दें. इसके बाद आप प्रिवियस एंप्लॉयर या फिर प्रजेंट एम्पलॉयर को चुन सकते हैं. ऐसे में अगर आपने वर्तमान नियोक्ता का चयन किया है तो आपको पुराने पीएफ खाता संख्या दर्ज करना होगा. Also Read - EPFO को लेकर बड़ा फैसला- PF पर मिलने वाला ब्याज हुआ तय, करोड़ों लोगों को होगा ये फायदा

इसी कड़ी में आगे आपको Get Details पर क्लिक करना होगा. इसके बाद आपके स्क्रीन पर पिछले पीएफ अकाउंट की सारी जानकारी आ जएगा. इसे वेरिफाई कर सबमिट कर दें. इसके बाद आपको स्टेप 2 कॉलम में जाकर Get Otp पर क्लिक करना होगा इसके बाद आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा. ओटीपी को इसमें भरने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक करके आगे बढ़ें. इसी प्रक्रिया के साथ आपके पुराने और नए पीएफ अकाउंट के Merge की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. इसके बाद आपके स्क्रीन पर ट्रांसफर क्लेम का स्टेट्स दिखेगा. इसी के साथ फॉर्म 13 भी दिखेगा. इस फॉर्म में आपके पहले और वर्तमान के नियोक्ता की जानकारी होगी साथ ही इसमें पीएफ संबंधित जानकारियां होंगी.