नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने माइकल देवव्रत पात्रा Michael Devvrat Patra को भारतीय रिजर्व बैंक Reserve Bank of India का नया डिप्टी गवर्नर Deputy Governor नियुक्त किया है. कार्मिक मंत्रालय ने इस बारे में आदेश जारी किया है. पात्रा का कार्यकाल तीन साल का होगा. पात्रा अभी तक कार्यकारी निदेशक के रूप में मौद्रिक नीति विभाग का काम देख रहे थे. वह रिजर्व बैंक के चौथे डिप्टी गवर्नर होंगे. विरल वी आचार्य के इस्तीफे के बाद से यह पद रिक्त था. आचार्य ने पिछले साल जून में इस्तीफा दिया था. Also Read - खुलेगा बातचीत का रास्ता! भारत-पाकिस्तान ने संघर्षविराम समझौतों का पालन करने पर जताई सहमति

बता दें कि आचार्य ने अपने इस्‍तीफे की वजह निजी बताई थी, लेकिन माना जा रहा था कि उन्‍होंने मतभेदों के चलते इस्‍तीफा दिया है. समझा जाता है कि माइकल देवव्रत पात्रा के पास भी आचार्य की तरह ही मौद्रिक नीति विभाग रहेगा. गवर्नर शक्तिकांत दास की अगुवाई वाले रिजर्व बैंक Reserve Bank of India  में अधिकतम चार डिप्टी गवर्नर हो सकते हैं. केंद्रीय बैंक के अन्य तीन डिप्टी गवर्नर एन एस विश्वनाथन, बी पी कानूनगो और एम के जैन हैं. Also Read - India में Coronavirus के 16,738 नए केस सामने आए, एक्टिव मरीजों की संख्‍या 1 लाख 51 हजार के पार

कौन हैं माइकल देवव्रत पात्रा
– पात्रा ने मुंबई से इकोनॉमिक्स में पीएचडी की डिग्री हासिल की थी
– पात्रा हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में रिसर्च फेलो रहे हैं
– पात्रा साल 1985 में आरबीआई से जुड़े थे
– पात्रा आर्थिक विश्‍लेषण विभाग में कंसलटेंट भी रहे हैं Also Read - UNHRC में india ने Pakistan को दिखाया आईना- भारत पर उंगली उठाने से पहले अपनी गिरेबान में झांके