नयी दिल्ली: सरकारी कंपनी एमएमटीसी ने प्याज की बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने के प्रयासों के तहत तुर्की से 11 हजार टन प्याज आयात करने का नया ठेका दिया है. सूत्रों ने इसकी जानकारी दी है. यह एमएमटीसी द्वारा प्याज के आयात के लिये दिया गया दूसरा ठेका है. कंपनी पहले ही मिस्र से 6,090 टन प्याज का आयात का आर्डर दे चुकी है.

 

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले महीने 1.2 लाख टन प्याज आयात करने की मंजूरी दी है. देश के विभिन्न हिस्सों में प्याज की खुदरा कीमतें 75 से 120 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच जाने के बाद इसकी आपूर्ति बढाने के उद्येश्य से सरकार ने इसके आयात सहित कई कदम उठाए हैं. प्याज निर्यात पर रोक लगायी जा चुकी है तथा थोक व खुदरा विक्रेताओं के लिए प्याज के भंडार की अधिकतम सीमा तय कर दी गयी है. सूत्रों के अनुसार, एमएमटीसी ने तुर्की से 11 हजार टन प्याज मंगाने का करार किया है. इसके तहत अगले साल जनवरी से प्याज की खेप मिलने की शुरुआत की उम्मीद है.

प्याज के दाम को काबू करने में केंद्र सरकार लाचार, आने वाले दिनों में करेगी ये काम

इस महीने के दूसरे सप्ताह में पहुंचने की उम्मीद
मिस्र से 6,090 टन प्याज इस महीने के दूसरे सप्ताह में मुंबई के जवाहर नेहरू पोर्ट टर्मिनल पर पहुंच सकता है. प्याज के भाव पर नियंत्रण के लिये गृहमंत्री अमित शाह की अगुवाई में मंत्रियों का एक समूह बनाया गया है. इसमें वित्त मंत्री, उपभोक्ता मामलों के मंत्री, कृषि मंत्री और सड़क परिवहन मंत्री भी रखे गए हैं.

प्याज की माला पहनकर बिहार विधानसभा पहुंचे RJD विधायक, कहा- गरीबों को 10 रुपये में दें प्याज