VODAFONE-IDEA and Airtel News: टेलीकॉम कंपनियों ने मोबाइल टैरिफ को 20 से 25 फीसदी बढ़ाने की कवायद शुरू कर दी है. Vodafone-Idea के बाद अब Airtel ने भी अब दरें बढ़ाने की वकालत की है. कंपनियां अगले महीने से टैरिफ बढ़ा सकती हैं. Also Read - vodafone enables free wi fi bus shelter in noida | वोडाफोन ने पेश किया वाई-फाई शेल्टर, यूजर्स को मिलेगा फ्री डेटा

बता दें, टैरिफ में आखिरी बढ़ोतरी दिसंबर 2019 में हुई थी. कंपनियों ने तब 40 फीसदी तक टैरिफ बढ़ाया था. कंपनियों को AGR की रकम चुकाने और नेटवर्क विस्तार के लिए पैसा चाहिए. Also Read - childrens day 2017 vodafone gift a story movement for story telling | दादा-दादी की कमी पूरी करेगा ये ऐप, बच्चों को सुनाएगा रोचक कहानियां

गौरतलब है कि साल 2016 में टेलीकॉम मार्केट में रिलायंस जियो के आने से जबरदस्त प्राइस वार शुरू हुआ था, जिसके बाद 2019 में पहली बार कंपनियों ने टैरिफ बढ़ाये थे. टेलीकॉम कंपनियों ने दिसंबर 2019 में टैरिफ की दरें बढ़ाई थीं. Also Read - Samsung announces Exynos 9810 chipset | सैमसंग ने लॉन्च किया 'Exynos 9810′ चिपसेट, इस फ्लैगशिप डिवाइस में होगा पेश

30 सितंबर 2020 को समाप्त दूसरी तिमाही के नतीजों पर नजर डालें तो प्रति ग्राहक सबसे ज्यादा कमाई भारती एयरटेल ने किया है. सितंबर तिमाही के अंत में VI की औसत आय प्रति उपयोगकर्ता (ARPU) 119 रुपए है. भारती एयरटेल (162 रुपए) और जियो (145 रुपए) रही है.

माना जा रहा है कि एजीआर और अन्य वजहों से होने वाले भारी घाटे से निपटने के लिए कंपनियों को टैरिफ में 25 फीसदी तक की भारी बढ़ोतरी करनी होगी, लेकिन एक बार में यह बढ़त करना संभव नहीं है. इसलिए कंपनियां दो या तीन बार में ऐसा करने का फैसला कर सकती हैं.

इसके पहले वोडाफोन आइडिया को पिछले साल की दूसरी तिमाही में भारतीय कॉरपोरेट इतिहास का सबसे ज्यादा 50,921 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था.