नई दिल्ली : मुकेश अंबानी पांच साल और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक बने रहेंगे. कंपनी के शेयरधारकों ने मुकेश अंबानी का कार्यकाल पांच साल बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी. अंबानी (61 वर्ष) 1977 से कंपनी के निदेशक मंडल में शामिल हैं. जुलाई 2002 में रिलायंस समूह के संस्थापक और उनके पिता धीरूभाई अंबानी के निधन के बाद उन्हें कंपनी का चेयरमैन बनाया गया. Also Read - Tik Tok को खरीदने की तैयारी में मुकेश अंबानी? RIL की Bytedance से चल रही बातचीत

Also Read - जल्द इन दो कंपनियों को खरीदेंगे मुकेश अंबानी! ई-कॉमर्स के क्षेत्र में बढ़ेगा रिलायंस का दबदबा

कंपनी की मुंबई में हुई 41वीं वार्षिक आम बैठक में उनके मौजूदा कार्यकाल को और पांच साल बढ़ाने को मंजूरी दे दी गई. मुकेश अंबानी का मौजूद कार्यकाल अप्रैल 2019 में समाप्त हो रहा है. कंपनी की शेयर बाजार को भेजी गई जानकारी के मुताबिक मुकेश अंबानी का कार्यकाल पांच साल बढ़ाने के प्रस्ताव पर कुल पड़े वोटों में से 98.5 प्रतिशत मत प्रस्ताव के समर्थन में पड़े. Also Read - कर्जमुक्‍त हुई रिलायंस इंडस्ट्रीज, मुकेश अंबानी ने 9 माह पहले ही शेयरधारकों से पूरा किया वादा

फिर से बढ़ने लगे पेट्रोल-डीजल के दाम, लगातार तीसरे दिन बढ़ी कीमत

प्रस्ताव के अनुसार, अंबानी को सालाना 4.17 करोड़ रुपये का वेतन तथा 59 लाख रुपये के भत्ते दिये जाएंगे. इसमें सेवानिवृत्ति लाभ शामिल नहीं है. कंपनी ने कहा कि उन्हें शुद्ध मुनाफे पर आधारित बोनस भी मिलेगा. इसके साथ ही उनकी कारोबारी यात्रा के दौरान परिवार एवं सहायकों समेत अंबानी की यात्रा व रहने-ठहरने का खर्च कंपनी उठाएगी. कंपनी उनके लिये कार, घर पर फोन एवं इंटरनेट का खर्च भी वहन करेगी. अंबानी एवं उनके परिजनों का सुरक्षा खर्च भी भत्ते में शामिल नहीं होगा और इनका वहन कंपनी करेगी.

फोर्ड की इस कार में निकली है ये खामी, कंपनी वापस बुलाएगी 5,397 इकोस्पोर्ट

वार्षिक आम बैठक में शेयरधारकों ने 2018-19 में गैर-परिवर्तनीय डिबेंचरों के जरिये 20 हजार करोड़ रुपये की पूंजी जुटाने की भी मंजूरी दी. हालांकि, कंपनी ने यह नहीं बताया कि इस राशि का कहां इस्तेमाल किया जाएगा.