अहमदाबाद: केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को कहा कि देश उन सभी निवेश का स्वागत करता है जो कानून का पूरी तरह से पालन करता है. उन्होंने ई-वाणिज्य कंपनी अमेजन पर दिए गए बयान के एक दिन बाद यह बात कही. उन्होंने गुरुवार को कहा था कि अमेजन भारत में एक अरब डॉलर का निवेश कर कोई एहसान नहीं कर रही. गोयल ने कहा कि कुछ लोगों ने उनकी बातों को गलत मतलब निकाला और उसे इस ढंग से पेश किया मानो ”मैंने अमेजन के बारे में कोई नकारात्मक बात कह दी है.”

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ”मैं केवल इतना कह रहा हूं कि निवेश नियमों के अनुसार और नियमन के जरिये आना चाहिए.” गोयल ने कहा कि खुदरा क्षेत्र में बड़े निवेश से छोटे व्यापारी प्रभावित नहीं होने चाहिए. उनके पास लाखों और करोड़ों रुपए तो नहीं हैं. वह यहां अहमदाबाद डिजाइन सप्ताह का उद्घाटन करने आये थे. तीन दिन का यह कार्यक्रम विभिन्न डिजाइन और आर्किटेक्चर संस्थानों के छात्रों के लिये है.

मंत्री ने कहा, ”हम सभी प्रकार के निवेश का स्वागत करते हैं. हालांकि अगर कोई निवेश कानून के दायरे से बाहर होता है तो जरूरी कानूनी प्रक्रिया अपनाई ही जाएगी”.

केंद्रीय वाणिज्‍य मंत्री गोयल ने कहा, ”हमारे देश में ई-वाणिज्य उद्योग के लिये कुछ नियम हैं. हम ऐसे सभी निवेश का स्वागत करते हैं जो नियमों के अनुसार आता है. हालांकि इससे भारत के छोटे व्यापारियों के लिए कोई अनुचित प्रतिस्पर्धा नहीं होना चाहिए. उन्हें शून्य ब्याज पर कर्ज नहीं मिलता. उनके पास लाखों-करोड़ों रुपए नहीं हैं.’’

केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को कहा था कि अमेजन भारत में निवेश करके उस पर कोई एहसान नहीं कर रही है. उन्होंने यह भी सवाल उठाया कि ऑनलाइन कारोबार मंच उपलब्ध कराने वाली कंपनी अगर दूसरों का बाजार बिगाड़ने वाली मूल्य नीति पर नहीं चल रही है तो उसे इतना बड़ा घाटा कैसे हो सकता है.

मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, मेरे बयान को संदर्भ के साथ देखा जाना चाहिए. सभी देश विदेशी निवेश का स्वागत करते हैं, लेकिन यह कानून के भीतर होना चाहिए.