Onion Price in India Latest Update: नैफेड ने नवंबर 2020 तक 15,000 टन लाल प्याज की आपूर्ति के लिए शनिवार को आयातकों से बोलियां मंगायी. इसका मकसद देश में प्याज की बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाना और घरेलू बाजार में उपलब्धता बढ़ाना है. Also Read - नैफेड ने जारी किए 15,000 टन प्याज के आर्डर, क्या काबू में आएंगे बढ़ते दाम?

नैफेड ने नवंबर 2020 तक किसी भी देश से 40 से 60 मिलीमीटर आकार की लाल प्याज की आपूर्ति की निविदा निकाली है. इस प्याज का दाम 50 रुपये प्रति किलोग्राम तक होना चाहिए. निविदा के मुताबिक आयातक न्यूनतम 2,000 टन की आपूर्ति के लिए बोलियां लगा सकते है. इन्हें 500 टन के कई लॉट में उपलब्ध कराया जा सकता है. Also Read - पहले आलू और प्याज ने रुलाया, अब खाने के तेल में लगा महंगाई का तड़का

आयातक अपनी बोलियां चार नवंबर तक जमा करा सकते हैं और उसी दिन निविदा के तहत मिली बोलियों को खोला जाएगा. आयातकों को प्याज की आपूर्ति कांडला बंदरगाह और जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह पर करनी होगी. नैफेड के अतिरिक्त प्रबंध निदेशक एस. के. सिंह ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘हमने 15,000 टन आयातित लाल प्याज की आपूर्ति के लिए निविदा निकाली है. यह घरेलू बाजार में प्याज की आपूर्ति बढ़ाने में मदद करेगी.’’ Also Read - Onion News: प्याज के बढ़ते दाम को थामने के सरकार के प्रयास का असर, लासलगांव मंडी में प्याज के दाम आज 700 रुपये घटे

उन्होंने कहा कि बोलियों का मूल्यांकन उपलब्ध करायी जाने वाली मात्रा, गुणवत्ता और जल्द आपूर्ति की तिथि के आधार पर किया जाएगा. बोली लगाने वालों को ताजी, अच्छी से सूखी हुई और बीमारी रहित प्याज उपलब्ध करानी होगी.

(इनपुट भाषा)