भुवनेश्वरः एल्युमीनियम क्षेत्र की प्रमुख कंपनी नाल्को ओडिशा के कामाख्यानगर में एक एल्युमीनियम फॉइल कारखाना लगाने की योजना बना रही है. कंपनी का मानना है कि एल्युमीनियम फॉइल प्लास्टिक पैकेजिंग का एक पर्यावरणनुकूल विकल्प हो सकती है. सार्वजनिक क्षेत्र की इस नवरत्न कंपनी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक तपन कुमार चंद ने कहा कि पैकेजिंग उद्योग को वैकल्पिक समाधान मुहैया कराने की चुनौती को पूरा करने के लिए नाल्को यह विनिर्माण संयंत्र लगाएगी.

चंद ने प्लास्टिक पैकेजिंग के विकल्प के रूप में एल्युमीनियम फॉइल के इस्तेमाल की वकालत करते कहा कि यह पर्यावरणनुकूल है और इसे रिसाइकिल भी किया जा सकता है. नाल्को के प्रमुख महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के सिलसिले में यहां रविवार को आयोजित ‘स्वच्छता ही सेवा अभियान’ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. कंपनी की पर्यावरणनुकूल पहलों के बारे में चंद ने कहा कि भविष्य में हम दूषित जल शोधन के लिए एमरियान नैनो प्रौद्योगिकी को बड़े पैमाने पर अपनाएंगे. इसके अलावा आईआईटी के साथ मिलकर ठोस कचरा प्रबंधन प्रौद्योगिकी भी विकसित की जाएगी.

(इनपुट भाषा)