नई दिल्ली: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) में सरकार IPO के जरिए अपनी हिस्सेदारी कम करेगी. वित्तमंत्री ने लोकसभा में आम बजट 2020-21 पेश करते हुए कहा, “सरकार एलआईसी को स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध करेगी.”Also Read - एलआईसी का चौथी तिमाही का परिणाम 30 मई को, 17 मई को शेयर बाजार में लिस्ट हुई है LIC

हाल के दिनों में यह देश का सबसे बड़ा आईपीओ (इनिशियल पब्लिक ऑफर) हो सकता है. सरकार अगले वित्त वर्ष के आरंभ में अप्रैल में LIC को सूचीबद्ध करेगी. LIC को स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध करने का यह फैसला सरकार का राजस्व बढ़ाने की दिशा में एक बड़ा कदम होगा. Also Read - लिस्टिंग में फ्लाॉप LIC अगले सप्ताह चौथी तिमाही के नतीजों के साथ डिविडेंड पर विचार करेगी, शेयरों में आई तेजी

एक अधिकारी ने बताया कि चालू वित्त वर्ष में विनिवेश से 18,000 करोड़ रुपये से ज्यादा रकम जुटाने की उम्मीद नहीं है. एक अधिकारी ने बताया कि कंपनी को सूचीबद्ध करना कठिन हो सकता है, क्योंकि इसका बड़ा निवेश रियल स्टेट, आर्ट व इक्विटी मार्केट में है, जिसके मूल्य निर्धारण में समय लग सकता है. Also Read - सब्सक्रिप्शन के लिए खुल गया एथर इंडस्ट्रीज का आईपीओ, जानें- आपको करना चाहिए सब्सक्राइब?

देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी LIC का सरप्लस 2018-19 में 9.9 फीसदी बढ़कर 532.14 अरब रुपये हो गया. यह पहला मौका था जब LIC का सरप्लस 500 अरब रुपये के स्तर को पार कर गया.