नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शु्क्रवार को अपने बजट भाषण 2019-20 में शुक्रवार बताया कि एनडीए सरकार में पिछले 4 साल में नॉन परफॉर्मिंग असेट (एनपीए) के चार लाख करोड़ रुपए की वसूली की है. एनपीए में पिछले साल एक लाख करोड़ रुपए की कमी आई है.

को कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) ने अपने पहले कार्यकाल में ‘ न्यू इंडिया’ के लिए काम शुरू कर दिया था. अब इन कार्यों की रफ्तार बढ़ाई जाएगी और आगे चलकर लालफीताशाही को और कम किया जाएगा.

रेलवे में Rs.50 लाख करोड़ के निवेश की जरूरत, पीपीपी मॉडल अपनाएंगे: वित्त मंत्री

3,000 अरब डॉलर की भारतीय अर्थव्यवस्था हो जाएगी इसी साल

नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश करते हुए सीतारमण ने कहा कि हालिया चुनाव में एक आकर्षक और मजबूत भारत की उम्मीदें लहरा रही थीं.

निर्मला सीतारमण ने शायरी से की बजट भाषण की शुरुआत, कहा- यकीन हो तो कोई रास्ता निकलता है…

वित्‍तमंत्री ने कहा कि मोदी सरकार ने पहले कार्यकाल में काम को पूरा कर के दिखाया. आम चुनाव में मतदाताओं ने काम करने वाली सरकार के पक्ष में मत दिया. उन्होंने कहा कि राजग सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में ‘न्यू इंडिया’ के लिए काम शुरू कर दिया था. हमने अंतिम छोर तक कार्यक्रमों को पहुंचाया. अब कार्यक्रमों की रफ्तार तेज की जाएगी और लालफीताशाही को कम किया जाएगा.